Bhilwara-25 जून 2024 की प्रमुख खबरे


Bhilwara-25 जून 2024 की प्रमुख खबरे 

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े Udaipur Times पर 

 
bhilwara
UT WhatsApp Channel Join Now

News-विदेशी कीट फाल आर्मी वर्म की संभाग स्तरीय कार्यशाला का हुआ आयोजन

भीलवाड़ा, 25 जून। राज्य कृषि प्रबन्ध संस्थान दुर्गापुरा, जयपुर द्वारा 25 जून व 26 जून को दो दिवसीय भीलवाड़ा के आत्मा सभागार में खण्ड स्तरीय ऑफ केम्पस प्रशिक्षण अन्तर्गत मक्का में फाल आर्मी वर्म कीट नियंत्रण  एवं प्रबन्धन विषय पर तकनीकी कार्यशाला का आयोजन किया। कार्यशाला के प्रथम दिवस पर मुख्य अतिथि के रूप में निदेशक ईश्वर लाल यादव ने अवगत कराया कि विदेश कीट फाल आर्मी वर्म से सावधान रहने की आवश्यकता है। यह कीट मेवाड व वागड़ क्षैत्र में वर्ष 2021-22 से उत्पात मचा कर क्षैत्र की मुख्य फसल मक्का में 50 से 60 प्रतिशत तक हानि पहुंचाई हैं।

इस प्रशिक्षण में संभाग के अतिरिक्त निदेशक कृषि डॉ. रामावतार शर्मा, संयुक्त निदेशक गुण नियंत्रण, गजानन्द यादव, कृषि आयुक्तालय, जयपुर तथा संयुक्त निदेशक कृषि, गोपाल लाल कुमावत, संयुक्त निदेशक चित्तौड़गढ़ दिनेश कुमार जागा, संयुक्त निदेशक, राजसमन्द, कैलाश चन्द्र मेघवंशी एवं कृषि विज्ञानिक डॉ. किशन जीनगर, डॉ. ललित कुमार छाता, मुख्य वैज्ञानिक बारानी कृषि अनुसंधान केन्द्र, आरजिया ने भाग लिया। कार्यशाला में संभाग के कृषि अधिकारियों से संयुक्त निदेशक कृषि/उद्यान स्तर के 60 प्रशिक्षणार्थियों ने भाग लिया। कार्यशाला का यूट्यूब के माध्यम से सीधा प्रसारण किया गया जिससे क्षैत्र में कार्यरत सहायक कृषि अधिकारी/कृषि पर्यवेक्षक एवं उनके द्वारा बनाये गये वाट्सएप ग्रुप के कृषकों ने जानकारी प्राप्त की।

कीट वैज्ञानिक डॉ. किशन जीनगर ने उक्त कीट के बारे में चर्चा करते हुए बताया कि इस कीट की नवजात सुन्डी मक्का के पौधे के तने में छेद करके अन्दर घुस जाती है. जैसे-जैसे पौधा बड़ा होता जाता है, पत्तियों पर एक पक्ति में कुछ छेद दिखाई देते है, जो की इसके शुरुआती लक्षण के तौर पर देखे गये हैं।
सुण्डी जब पौधे की छोटी अवस्था में आक्रमण करती है, तो पौधों की बढ़वार बिन्दु को मार देती है। जिससे पौधों की नई पतियों एवं भुट्टा नहीं बन पाते है। जैसे-जैसे सूण्डी बडी होती जाती है पौधे के अन्दर के भाग को खाती रहती है। जिससे पत्तियाँ कटी-फटी दिखाई देती है तथा जिस जगह सुण्डी खाती है उस जगह बहुत सारी विष्ठा एकत्रित हो जाती है, जो इस कीट से ग्रसित पौधों की पहचान का लक्षण है।

यह करें उपाय-

खेत में सुण्डियों की संख्या बढ़ जाने पर यह मक्का के भुट्टों में छेद कर दानो को खा जाती है। अधिक आक्रमण के कारण पौधा छोटा रह जाता है, जिससे मक्का के उत्पादन में लगभग 15 से 75 प्रतिशत कमी हो जाती है। इसके नियंत्रण हेतु जब फसल में 5 प्रतिशत नुकसान हो तब एजाडिरेंक्टिन 1500 पीपीएम की 5 मि.ली. मात्रा प्रति लीटर पानी के साथ घोल बनाकर छिड़काव करें। फसल में इस कीट से 10 से 20 प्रतिशत नुकसान होने पर इमामेक्टिन बेन्जोएट की 4 ग्राम प्रति लीटर पानी या स्पाईनासेड की 0.3 मि.ली. लीटर पानी या थायोंमिथेक्सोन 12.6 प्रतिशत लेंम्डासाइहेलोथ्रिन 9.5 प्रतिशत की 0.5 मि.ली. प्रति लीटर या क्लोरेन्ट्रानिलिप्रोल की 0.3 मिली प्रति लीटर पानी की दर से घोल बनाकर छिड़काव करें।

News-डॉ. भीमराव अंबेडकर राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजनान्तर्गत खण्ड एवं पंचायत समिति स्तर पर जागरूकता शिविरों का होगा आयोजन

भीलवाड़ा, 25 जून। औद्योगिक विकास में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्गों की प्रभावी भागीदारी के लिए डॉ. भीमराव अंबेडकर राजस्थान दलित, आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के तहत इच्छुक व्यक्ति ऋण हेतु आवेदन कर सकते है।

जिला उद्योग एवं वाणिज्य केन्द्र के संयुक्त आयुक्त (महाप्रबंधक) के. के. मीना ने बताया है कि योजना अन्तर्गत विनिर्माण क्षेत्र में अधिकतम 10 करोड रूपये, सेवा क्षेत्र में 5 करोड़ रूपये एवं व्यापार क्षेत्र में अधिकतम करोड रूपये तक का ऋण वित्तीय संस्थाओं के माध्यम से उपलब्ध कराया जा सकेगा।

योजनान्तर्गत 25 लाख रू. से कम ऋण पर 9 प्रतिशत व्याज अनुदान, 25 लाख से 5 करोड़ रूपये के ऋण पर 7 प्रतिशत एवं 5 करोड़ से 10 करोड़ रूपए तक के ऋण पर 6 प्रतिशत ब्याज अनुदान दिया जाएगा, साथ ही योजनान्तर्गत परियोजना लागत का 25 प्रतिशत या 25 लाख रूपए (जो भी कम हो) मार्जिन मनी अनुदान देय होगा एवं सीजीटीएमएसई शुल्क भी राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। इस हेतु खण्ड/पंचायत समिति स्तर पर विशेष जागरूकता शिविरों का आयोजन किया जाएगा।

भीलवाडा जिले अन्तर्गत ग्रामीण हाट, भीलवाडा में दिनांक 27 जून को,  हुरडा में 5 जुलाई, आसीन्द में 10 जुलाई, सुवाणा में 12 जुलाई, ग्रामीण हाट भीलवाडा में 18 जुलाई, करेडा एवं मांडल में 22 जुलाई सहावा एवं रायपुर में 24 जुलाई, माण्डलगढ़ व बिजोलिया में  29 जुलाई को पंचायत समिति मुख्यालय पर प्रातः 11.00 बजे से शिविरों का आयोजन किया जाएगा। शाहपुरा जिले अन्तर्गत पंचायत समिति कोटडी में  02.जुलाई , बनेड़ा में 25 जुलाई, जहाजपुर में दिनांक 31 जुलाई को पंचायत समिति मुख्यालय पर प्रातः 11.00 बजे से शिविरों का आयोजन किया जावेगा।

शिविर में उद्योग एवं वाणिज्य विभाग से संबंधित योजनाओं की जानकारी प्रदान करने के साथ ही आवेदन पत्र निः शुल्क तैयार कराये जायेंगें। इस हेतु इच्छुक आवेदक को अपने साथ फोटो, जन आधार आधार कार्ड, पेन कार्ड, मार्कशीट, जाति प्रमाण पत्र, आदि दस्तावेज साथ लाने होगें। स्थानीय उद्यमियों एवं युवाओं से आग्रह है की अधिक से अधिक संख्या में भाग लेकर योजनाओं का लाभ उठाए।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal