‘कॉर्बेवैक्स’ होगी दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन


‘कॉर्बेवैक्स’ होगी दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन

केंद्र सरकार ने 30 करोड़ डोज का दिया ऑर्डर 

 
carbovax
UT WhatsApp Channel Join Now

‘कॉर्बेवैक्स’ असल में रीकॉम्बिनेंट प्रोटीन सबयूनिट वैक्सीन है। ऐसी वैक्सीन को रिसेप्टर बाइंडिंग  डोमेन  भी कहते है

हैदराबाद स्थित बायोलॉजिकल ई की कोरोना वैक्सीन ‘कॉर्बेवैक्स’ दुनिया की सबसे किफायती वैक्सीन साबित हो सकती है। केंद्र सरकार ने मात्र 50 रुपए प्रति डोज के हिसाब से इसकी 30 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है। 

लॉन्चिंग के बाद भारतीय बाजारों में दोनों डोज के लिए कीमत 400 रुपए से भी कम रखी जा सकती है। फिलहाल फेज 3 ट्रायल से गुजर रही इस वैक्सीन की रिस्क मैन्युफैक्चरिंग हो चुकी है। कंपनी को उम्मीद है कि अगस्त से वह 7.5 से 8 करोड़ हर महीने तैयार कर सकेगी। 

‘कॉर्बेवैक्स’ असल में रीकॉम्बिनेंट प्रोटीन सबयूनिट वैक्सीन है। ऐसी वैक्सीन को रिसेप्टर बाइंडिंग  डोमेन  भी कहते है। यह बीमारी देने वाले वायरस के कुछ खास हिस्सों से बनी होती है ताकि रोग को इम्यून सिस्टम पहचान ले। इसकी 2 डोज 28 दिन के अंतराल पर इंजेक्शन के जरिए दी जाएगी। इसको रेफ्रिजरेटर में सामान्य तापमान पर रखा जा सकता है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal