अबॉर्शन होने से परेशानी के चलते चुराया था बच्चा

अबॉर्शन होने से परेशानी के चलते चुराया था बच्चा

दो दिन पहले एमबी अस्पताल से बच्चा चुरानी वाली महिला का खुलासा  

 
m b hospital

उदयपुर 18 फरवरी 2023 । दो दिन पूर्व बच्चा चुराने वाली महिला को हाथीपोल थाना पुलिस ने आज अपनी कस्टडी में ले लिया है, पुलिस पूछताछ में आरोपी महिला में बच्चा चुराने के कारणों के बारे में भी पुलिस को जानकारी दी है।

हाथीपोल थानाधिकारी योगेश कुमार ने बताया कि महिला के अबॉर्शन होने से परेशानी के चलते उदयपुर के एमबी हॉस्पिटल के जनाना वार्ड से बच्चा चोरी करने की वारदात को अंजाम दिया था। कुमार ने बताया कि अभी तक की पूछताछ और मामले की जांच में ऐसी कोई भी बात सामने नहीं आई है कि महिला द्वारा पूर्व में भी कोई बच्चा चुराया गया हो या वह किसी भी तरीके की बच्चा चोरी करने वाले गिरोह से जुड़ी हो।

कुमार का कहना है कि पुलिस जांच में यह बात भी सामने आई है कि 2020 में उदयपुर के पहाड़ा थाना क्षेत्र में महिला और उसके पति दोनों प्रेम विवाह कर लिया था जिसके बाद महिला के पति के खिलाफ पोक्सो एक्ट में मामला दर्ज किया गया था क्योंकि महिला नाबालिग थी इसके बाद महिला को नारी निकेतन में भेज दिया गया था तो वही महिला के पति को जेल भेजा गया था। 

लेकिन अब जब यह दोनों बालिग़ हो चुके हैं तो दोनों पति-पत्नी के रूप में साथ में रहते हैं और आरोपी महिला का पति गुजरात के अहमदाबाद में नौकरी करता है। शादी के बाद से महिला का पूर्व में भी एक बार अबॉर्शन हो चुका है और हाल ही में 7 फरवरी को फिर से एक बार अबॉर्शन हो गया था जिसकी वजह से वह परेशान थी और वह यह बात अपने गांव वालों और रिश्तेदारों से छुपाने के लिए किसी के बच्चे की चोरी करने के बारे में सोच रही थी जब महिला ने पीड़ित परिवार को हॉस्पिटल की गैलरी में बैठे हुए देखा तो पहले उसने उनसे दोस्ती बढ़ाई और फिर मौका पाकर बच्चा लेकर फरार हो गए।

थानाधिकारी कुमार ने बताया कि महिला ने बच्चा चोरी करने के बाद उदयपुर के पारस जेके हॉस्पिटल में काम करने वाली अपनी दो सहेलियों लक्ष्मी और नसरीन से संपर्क किया जो कि हॉस्पिटल में गार्ड की नौकरी करते हैं उनको बताया कि वह अपनी ननद के बच्चे को लेकर हॉस्पिटल आ रही है और उसको बीमार होने की वजह से इलाज के लिए हॉस्पिटल में भर्ती कराना चाहती है। साथ ही उसने यह भी बताया कि उसको भी सर पर चोट आई है और इलाज के लिए वह भी हॉस्पिटल में भर्ती होना चाहती है। अपने दोस्तों की मदद लेकर वाह पारस जेके हॉस्पिटल में भर्ती हो गई और बच्चे को भी अपने साथ में ही रख लिया।

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि महिला द्वारा किसी भी पैसे की लालच या अन्य किसी लालच के चलते बच्चा नहीं चुराए गया है सिर्फ अपने पास रखने की नियत से ही उसने बच्चे को चुराया था।

अधिकारी का कहना है कि हालांकि महिला इस मामले को लेकर अब गहनता से पूछताछ की जा रही है और उसके खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला भी दर्ज कर लिया गया है उसे जल्द ही कोर्ट में पेश किया जाएगा जहां से आगे की कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि 2 दिन पूर्व उदयपुर के एमबी चिकित्सालय में इलाज के लिए नर्सरी में भर्ती किए गए महेश 11 दिन के बच्चे को किसी अज्ञात महिला द्वारा चुरा लिया गया था।  बच्चे को उदयपुर के भटेवर की रहने वाली कमला देवी ने जन्म दिया था लेकिन ऑपरेशन से डिलीवरी होने के कारण बच्चा कमजोर था और उसे 11 दिन से जनाना हॉस्पिटल की नर्सरी में रखा गया था उसके गुरुवार सुबह हॉस्पिटल से उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था। 

घटना की एक रात पहले आरोपी महिला अनीता पीड़ित कमला और उसके परिवार के पास पहुंची उन्हें निशाने पर रखते हुए उसने पहले उससे अपनी दोस्ती बढ़ाई और अपने मोबाइल से कमला के पति के नंबर पर एक मिस कॉल किया जिसके इसके बाद अगले दिन उसने बच्चा चुराने की नियत से पीड़ित परिवार को झूठ बोलकर डॉक्टर के पास भेज दिया और पीछे से बच्चा लेकर फरार हो गई।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal

From around the web