लोक कला मण्डल में बच्चों की प्रस्तुतियों ने मन मोहा

लोक कला मण्डल में बच्चों की प्रस्तुतियों ने मन मोहा

ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर के समापन समारोह में प्रतिभागियों ने दी मनमोहक प्रस्तुतियाँ

 
प्रस्तुतियाँ देती बालिकाए

उदयपुर 15 जून 2023 भारतीय लोक कला मण्डल द्वारा आयोजित ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर के समापन समारोह में प्रतिभागियों ने दी मनमोहक प्रस्तुतियाँ।
 

भारतीय लोक कला मण्डल के निदेशक डॉ. लईक हुसैन ने बताया कि संस्था में दिनांक 15 मई 2023 से एक माह के ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया । जिसमें 10 वर्ष से अधिक सभी आयु वर्ग के 50 प्रतिभागीयों को संस्था के कलाकारों द्वारा लोक नृत्य, लोक गीत, लोक वादन, शास्त्रीय गायन एवं दस्ताना पुतली निमार्ण एवं संचालन का प्रशिक्षण दिया गया।

dance

 

निम्न गीतों पर प्रस्तुतियाँ दी गई

समापन समारोह के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में सबसे पहले प्रतिभागियों ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की उसके पश्चात प्रतिभागियों ने ‘‘जयुपरिया री सैर करा दो’’, ‘‘ नैण कटारी रे लागी मारी कालजियाँ री कौर, ‘‘मरोड़ियाँ लाजे रे बाजु दार बंगड़ी ...., भवाई.., पणिहारियाँ ले गई रे..., मने चुड़ी परावण लागे, मेहंदी रची मारा हाथा में..., माथे साजे बोरलो, पैरा में पायल बाजणी....., अजी हॅासा मारी रूणक-झुणक....  आदि पर बहुत ही सुंदर लोक नृत्यों के साथ ही तन मेरा मन मेरा देश, कालियो कूद पड़ियों मेला में..... घूमर आदि गीतों की धून पर प्रतिभागियों ने बहुत ही शानदार प्रस्तुतियाँ दी।

मानद सचिव सत्य प्रकाश गौड़ ने प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितरित किये

डॉ. हुसैन ने अपने धन्यवाद भाषण के दौरान कहा भारतीय लोक कला मण्डल, उदयपुर अपनी स्थापना से ही लोक कलाओं के प्रोत्साहन, प्रचार- प्रसार एवं प्रशिक्षण के उद्वेशय से वर्ष भर विभिन्न कार्यशालाओं का आयोजन करता रहता है। जिससे यह लोक कलाएँ आमजन तक सहज रूप से पहुँच सके और इस हेतु संस्था द्वारा आगे भी इस तरह के प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम के अंत में भारतीय लोक कला मण्डल के मानद सचिव सत्य प्रकाश गौड़ द्वारा प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितिरित किये।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal