76% लोगों को मिल चुकी वैक्सीन की पहली डोज, रेंडम सेंपलिंग बढ़ाने के निर्देश

76% लोगों को मिल चुकी वैक्सीन की पहली डोज, रेंडम सेंपलिंग बढ़ाने के निर्देश

सीएमएचओ ने ली कोरोना पर समीक्षा बैठक

 
CMHO

एयरपोर्ट पर सुबह 7:00 बजे से रात 10:00 बजे तक 2 सैंपलिंग टीमें भी लगाई गई है जो आने वाले यात्रियों की रेंडम सेंपलिंग करेंगी

कोरोना के बदलते स्वरूप एवं संभावित तीसरी लहर की आहट को लेकर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग फिर सचेत हो गया है। विदेशों में कोरोना के "ओमीक्रोन" वैरीऐंट के मामले पाए जाने के बाद अब उदयपुर चिकित्सा विभाग भी अलर्ट मोड पर आ गया है। राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलो एवं नए वेरिएंट के अधिक घातक होने की संभावनाओं ने इस बाबत चिंता और बढ़ा दी है। इस संबंध में आज उदयपुर जिले के चिकित्सा विभाग के मुखिया डॉक्टर दिनेश खराड़ी ने बड़ी स्थित स्वास्थ्य भवन में जिला स्तरीय अधिकारियों के संग समीक्षा बैठक कर जिले में संभावित तीसरी लहर हेतु की गई तैयारियों पर चर्चा की।
 

बैठक में उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ राघवेंद्र राय, सैंपलिंग नोडल प्रभारी डॉ विकाश मीना, लॉजिस्टिक प्रभारी डॉ अंकित जैन, नोडल कोविड हॉस्पिटल डॉ अंशुल मट्ठा, नोडल कांटेक्ट ट्रेसिंग डॉ मनु मोदी, नोडल होम आइसोलेशन डॉ शलेन्द्रा, एवं शहर प्रभारी डॉ कैलाश शर्मा उपस्थित रहे। समीक्षा बैठक के उपरांत जानकारी देते हुए सीएमएचओ डॉक्टर दिनेश खराड़ी ने बताया कि कोरोना का नया वेरिएंट काफी खतरनाक हो सकता है ऐसे में लोगों को सावधान रहने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ द्वारा अभी लगभग 10 देशों में कोरोना के नए वेरिएंट की पुष्टि की गई है इसलिए एतिहायत के तौर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (सीआईडी) को प्रतिदिन इन 10 देशों एवं "ओमिक्रोन" वैरिएंट प्रभावित अन्य क्षेत्र से आने वाले लोगों की सूची उपलब्ध कराने हेतु लिखा गया है ताकि इनकी जांच कर कोरोना के नए वैरिएंट के संक्रमण का पता लगाया जा सके। इसके साथ ही एयरपोर्ट पर सुबह 7:00 बजे से रात 10:00 बजे तक 2 सैंपलिंग टीमें भी लगाई गई है जो आने वाले यात्रियों की रेंडम सेंपलिंग करेंगी।
 

डॉक्टर खराड़ी ने बताया कि संक्रमण की वास्तविकता का पता लगाने हेतु ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में भी रेंडम सेंपलिंग को और बढ़ाया जाएगा। अधिक भीड़भाड़ वाली जगहों जैसे रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, सब्जी मंडी, शॉपिंग मॉल इत्यादि जगहों पर रैंडम नमूने लेने की मात्रा को और बढ़ाया जाएगा। उदयपुर जिला पर्यटन स्थल होने एवं शादी समारोह का सीजन होने से इन दिनों  होटल एवं रिसोर्ट में भी बाहरी पर्यटकों की भी भीड़ भाड़ रहती है। इन स्थानो पर विदेश से आये यात्रियों एवं आईएलआई लक्षणों वाले लोगो की जाँच करवाने हेतु समस्त होटल प्रबंधको को भी निर्देशित किया गया है।
 

विशेषज्ञों द्वारा संभावित नई लहर से बच्चो के संक्रमित होने की सम्भावना भी जताई जा रही है इस हेतु स्कूलों में रेंडम सैंपलिंग की जा रही है। अभी तक 87 विद्यालयों में कुल 2383 बच्चो की सैंपलिंग की जा चुकि है जिसमे कोई भी बच्चा पॉजिटिव नही पाया गया है।

अभी तक 76 प्रतिशत लोगो को लगी है वैक्सीन की प्रथम खुराक।

कोविड बचाव में सबसे कारगर हथियार वैक्सीनेशन को अब तक जिले के लगभग 76 प्रतिशत लोगो ने ही अपनाया है। विभाग द्वारा अधिक से अधिक लोगो को वैक्सीनेट करने हेतु हर घर दस्तक टीकाकरण अभियान भी चलाया गया है जिसमे विभागीय कर्मचारियों द्वारा घर घर जाकर छुटे लोगो को टीका लगाया जा रहा है। डॉ खराड़ी ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि लोग नियमित जीवन में कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर का सख्ती से पालन करे एवं टीके की दोनों खुराक अवश्य लगवाये ताकि कोविड के इस बहुरूपी चक्र से जीवन को बचाया जा सके।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal