Collector, SP ने नए कानून को लेकर Transport Organization के सदस्यों और ड्राइवरों से की मुलाक़ात

Collector, SP ने नए कानून को लेकर Transport Organization के सदस्यों और ड्राइवरों से की मुलाक़ात 
 

Transport Organization ने कानून को support  करने की बात कही 

 
New Hit & Run Law In India

उदयपुर ,03.01.24 - देश में कुछ ही महीनों में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं सभी राजनीतिक पार्टियां चुनाव की तैयारियों में जुटी है, ऐसे में सरकार बिल्कुल नहीं चाहेगी कि किसी भी तरह से उसके खिलाफ समाज में नेगेटिव छवि बने। 

ट्रक और बस ड्राइवरों की हड़ताल ने देश की अर्थव्यवस्था को गंभीर रूप से प्रभावित किया। हड़ताल के कारण देशभर में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बाधित होने लगी थी और कीमत भी बढ़ने लगी थी इसी को मद्देनजर रखते हुए सरकार ने बुधवार को एक हैं फैसला लेते हुए हरताल कर्ताओं से फिलहाल नए कानून को लागु न करने की बात कह कर हरताल को समाप्त करने का आह्वान किया। 

सरकार को यह महसूस हुआ कि ट्रक ड्राइवरों की मांगें जायज हैं, ट्रक ड्राइवरों का कहना है कि नया कानून अत्यधिक कठोर है और उनके लिए अनुचित है। 

ट्रक और बस के ड्रायवरों ने देशव्यापी हड़ताल के जरिए केंद्र और राज्य सरकार पर नया कानून वापस लेने का दबाव बनाने की कोशिश की थी लेकिन इस देश व्यापी हरताल का सबसे  ज्यादा असर आम जनता  पर हुआ।  भीषण सर्दी में लोग स्थानीय बस स्टैंड से अपने गंतव्य तक आने-जाने में परेशान नजर आए। कई जगह पर हरताल के दौरान हाइवे जाम होने से भी लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। 

ऐसे में सरकार के आश्वासन के बाद बुधवार को हरताल को तो समाप्त कर  दिया गया लेकिन उसके बाद सभी शहरों में प्रशानिक अधिकारीयों द्वारा ट्रक और बस ड्राइवरों से मुलाक़ात कर  नए कानून  को लेकर फेल रही भ्रांतियों पर चर्चा की गई और उन्हें सीके सभी पहलुओं से अवगत करवाया गया। 

इसी को ध्यान में रखते हुए उदयपुर में उदयपुर ज़िला कलेक्टर अरविन्द पोसवाल , एसपी भुवन भूषण ,एड़ीएम् प्रशासन शैलेश सुराणा सहित अन्य कई प्रशाशनिक अधिकारी इस चर्चा के दौरान मौजूद रहे। 

सभी अधिकारी शहर के ट्रांसपोर्ट नगर पहुंचे जहाँ उन्होंने Udaipur Transport Organisation  के सदस्योन और पदाधिकारियों से मुलाक़ात की और उन्हें Hit & Run  के नए कानून के बारे में शिक्षित किया।  

इस मोके पर Organisation से अध्यक्ष नरेंद्र सिंह राणावत ने कहा की इतने  दिनों से इस कानून को लेकर ड्राइवरों के दिमाग में जो डाउट था था वह आज अधिकारीयों द्वारा समझने पर दूर हो गया और उन्हें ये अच्छे से समझ में आ गया की यह कानून उनके खिआफ़ नहीं बल्कि हित  में हैं ,यह सिर्फ उन लापरवाही से गाड़ी चलने वालो के खिलाफ है जो की जान भूझकर लापरवाही से गाड़ी चलकर लोगों की जान लेते है।  इसी के साथ सभी ड्राइवरों ने इस कानून का समर्थन करने की बात कही है। 

राणावत ने कहा की अधिकारीयों ने सभी से खुद विडिओ बनाकर और लोगों को इस कानून के बारे में अवगत करवाने की भी बात कही। उन्होंने कहा की सभी अधिकारीयों की बात का सामान किया जाएगा लेकिन उनसे ये विनती है की अगर किसी ड्राइवर से गलती से कोई घटना घटित हो जाए और उसको घटित करने के पीछे उसकी कोई मंशा न हो तो ऐसे में प्रशाशन उनका ध्यान रखे किसी बेगुनाह को सजा न हो जाए।  

तो वही Organization के Joint Secretary  मनप्रीत सिंह खेरा ने कहा की प्रशासनिक अधिकारीयों ने सभी ड्राइवरों से बात चित कर उन्हें समझाया जिस से सभी की सोच में बदलाव आया।  अधिकारीयों ने सभी को बताया की यह कुछ असामाजिक तत्वों की बदमाशी है जो इस कानून को लेकर भ्रांतियां फैलाने का काम कर रहे हैं , ऐसे में अगर आ वाले समय में सरकार इस कानून को जैसे भी लागु करती है तो Udaipur Transport Organization उसका support करेगा। इस मोके पर Organization के Vice President गोपाल सुथार, Senior Vice President मुन्ना भाई गुर्जर, General  Secretary रतन सिंह राणावत सहित अन्य कई सदस्य मौजूद रहे। 
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal