कोरोना रिपोर्टिंग: राज्य और जिले की रिपोर्ट में विरोधाभास

कोरोना रिपोर्टिंग: राज्य और जिले की रिपोर्ट में विरोधाभास 

31 अगस्त 2020 को उदयपुर जिले के कोरोना पॉजिटिव का वास्तविक आंकड़ा 2807 है। वही राज्य की रिपोर्ट में यह आंकड़े 31 अगस्त तक उदयपुर जिले का आंकड़ा 2418 प्रदर्शित किया जा रहा है।
 
कोरोना रिपोर्टिंग: राज्य और जिले की रिपोर्ट में विरोधाभास
जिला स्तर की रिपोर्ट के मुकाबले राज्य की जिलेवार रिपोर्ट में उदयपुर जिले के करीब 15 फीसदी आंकड़े को कम करके बताया जा रहा है। 

उदयपुर 2 सितंबर 2020। वैश्विक महामारी कोरोना के बढ़ते कैसेज़ शहर के लिए चिंताजनक होते जा रहे है। अगस्त माह में शहर का शायद ही कोई कोना या मोहल्ला ऐसा हो जो COVID कि चपेट में आने से बचा हो। अगस्त की शुरुआत 1304 केस से बढ़ती हुई 2800 के पार पहुँच चुकी है। आज 2 सितंबर को यह आंकड़ा 2888 तक पहुँच गया है।  अगस्त माह में कोरोना के औसतन 48 केस प्रतिदिन पाए गए है। 

31 अगस्त 2020 को उदयपुर जिले के कोरोना पॉजिटिव का वास्तविक आंकड़ा 2807 है। वही राज्य की रिपोर्ट में यह आंकड़े 31 अगस्त तक उदयपुर जिले का आंकड़ा 2418 प्रदर्शित किया जा रहा है। जिला स्तर की रिपोर्ट के मुकाबले राज्य की जिलेवार रिपोर्ट में उदयपुर जिले के करीब 15 फीसदी आंकड़े को कम करके बताया जा रहा है। 

जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी ने उदयपुर टाइम्स को बताया की जिले की रिपोर्ट डेली बेसिस से राज्य के स्वास्थ्य विभाग को भेज दी जाती है। जिनको अपडेट करने में वक़्त लग सकता है। देखा जाए राज्य की जिलेवार रिपोर्ट को अपडेट होने में 48 घंटो का फर्क भी माना जा सकता है। लेकिन आंकड़ों में इतना विरोधाभास होना राज्य सरकार की लापरवाही मानी जाये या आंकड़ों को कमतर प्रदर्शित करने की कवायद ?     

जिस प्रकार उदयपुर जिले के आंकड़े कमतर प्रदर्शित हो रहे है उसी प्रकार सम्भवतया कई जिलों के आकंड़ो में विरोधाभास होने को नकारा नहीं जा सकता है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal