निगम से नोटिस मिलने के बाद पार्षद खुद बैठे आमरण अनशन पर


निगम से  नोटिस मिलने के बाद पार्षद खुद बैठे आमरण अनशन पर 

 
Parshad
UT WhatsApp Channel Join Now

उदयपुर,29.05.23 - नगर निगम में यूडी टैक्स (अर्बन डेवलपमेंट टैक्स  के नाम पर भेजे जा रहे नोटिसो में बड़ी गड़बड़ी होने की बात सामने आई है। इन गड़बड़ियों का शिकार कथित रूप से खुद नगर निगम से कांग्रेस के पार्षद लोकेश गौड़ हुए हैं। 

लोकेश गौड़ अब यूडी टैक्स वसूली करने वाली कंपनी पर गंभीर आरोप लगाते हुए उसे ब्लैक लिस्टेड करने की मांग कर रहे हैं, और इसको लेकर कंपनी ब्लैक लिस्टेड नहीं होने तक वे नगर निगम परिसर में ही आमरण अनशन पर बैठ गए हैं। 

दरअसल नगर निगम 2700 स्क्वायर फीट या उससे ज्यादा कि आवासीय भवन पर यूडी टैक्स वसूलती है, लेकिन पार्षद लोकेश गौड़ के 1000 स्क्वायर फीट के भूखंड पर बने मकान को 1800 ग्राउंड फ्लोर और 2000 स्क्वायर फिट फरिस्त और सेकण्ड फ्लोर बताकर यूडी टैक्स कंपनी ने नोटिस जारी कर दिया। 

यह नोटिस लोकेश गौड़ के मकान को तीन मंजिला बताते हुए 2,48,000 जमा कराने का जारी किया है। 

मजे की बात तो यह है कि इस नोटिस में लोकेश गौड़ की ग्राउंड प्लस वन  मंजिल को कमर्शियल बताया गया है जबकि दूसरी मंजिल को रेजिडेंशियल बताया गया है। लोकेश गौड़ का मकान सिर्फ ग्राउंड प्लस वन बना हुआ है जबकि नोटिस में उसे ग्राउंड प्लस टू फ्लोर बताया है और रिकवरी निकाली गई है ।

 लोकेश गौड़ के मकान को कुल 5800 स्क्वायर फीट कंस्ट्रक्शन बताया गया जबकि उसके मकान पर महज 18 स्क्वायर फिट का कंस्ट्रक्शन हो रखा है, ऐसे में यूडी टैक्स वसूल करने वाली कंपनी आरोपों के घेरे में है कि उसके द्वारा शहर में ऐसे गलत नोटिस कितनी जगह जारी किए गए होंगे और आमजन से वसूली की जा रही होगी। फर्स्ट 

 लोकेश गौड़ ने आमरण अनशन शुरू किया है और कंपनी ब्लैक लिस्टेड नहीं होने तक आमरण अनशन  जारी रखने की चेतावनी भी दी है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal