कर्फ्यू से शहर थमा, लेकिन अस्पताल में बढ़ती भीड़

कर्फ्यू से शहर थमा, लेकिन अस्पताल में बढ़ती भीड़ 

MBGH के कोरोना सैंपलिंग वाले स्थान पर अनियंत्रित भीड़, नहीं है सोशल डिस्टेंसिंग 

 
कर्फ्यू से शहर थमा, लेकिन अस्पताल में बढ़ती भीड़

भीड़ में सोशल डिस्टेंसिंग नदारद है।

उदयपुर 19 अप्रैल 2021। शहर के कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच जन अनुशासन पखवाड़ा के तहत बाज़ार बंद है। ज़रूरी चीज़ो राशन ,किराणा, दवाइयाँ आदि के लिए बाजार खुला है।  लेकिन अन्य व्यापार धंधे बंद पड़े है।  कारण बाज़ार बंद होने से लोग भी ज़रूरी चीज़ो की खरीदारी के लिए ही बाहर निकल रहे है।  

लेकिन जहाँ संक्रमण का सर्वाधिक खतरा है वहां कोविड गाइडलाइन की धज्जिया उड़ती दिख रही है।  जी हाँ हम बात कर रहे है महाराणा भूपाल चिकित्सालय के उन सेंटर की जहाँ कोरोना सैंपलिंग  और RTPCR टेस्ट के लिए जमा हुए लोगो का हुजूम। यहाँ लोगो के चेहरे पर मास्क तो नज़र आ रहा है।  लेकिन भीड़ में सोशल डिस्टेंसिंग नदारद है।  

आपको बता दे की इन भीड़ में हर कोई लाइन लगा के खड़ा है अपनी बारी के इंतज़ार में। भीड़ में खड़े लोगो ने यह भी आरोप लगाया की हम लोग घंटो लाइन में खड़े हुए है जबकि कोई मेडिकल स्टाफ के जान पहचान या रसूखदार लोग अपना काम निकाल लेता है।  ऐसे में सवाल ये उठता है की यहाँ शायद भीड़ को नियंत्रित करने के लिए कोई प्रबंधन नहीं है।  

सबसे बड़ा सवाल यह है की अगर इन भीड़ में ज़ाहिर है कोई न कोई संक्रमित तो होगा ही।  देखा जाए तो सैंपलिंग के मुकाबले संक्रमितों का प्रतिशत 30 फीसदी के करीब है। अगर सोशल डिस्टेंसिंग नहीं रहेगी तो लाइन में खड़े कितने लोगो को वह व्यक्ति संक्रमित कर सकता है।  यह एक गंभीर विषय है।  

 

भीड़ सिर्फ यही नहीं है।  शहर के अन्य मेडिकल क्लिनिक पर यही नज़ारे है।  

Pacific Hospital
Fatehpura Chowki

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal