राजकार्य में बाधा उत्पन्न एवं अभद्रता करने वाले चिकित्सक के निलंबन की मांग

राजकार्य में बाधा उत्पन्न एवं अभद्रता करने वाले चिकित्सक के निलंबन की मांग 

राज्य सरकार के आदेशानुसार राजकार्य में बाधा उत्पन्न एवं अभद्रता करने वाले चिकित्सक की विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही के लिए निदेशक पब्लिक हेल्थ को सीएमएचओ ने लिखा पत्र

 
cmho office

उदयपुर 6 मार्च 2024। राज्य सरकार के निर्देशानुसार 100 दिवसीय कार्य योजना के अन्तर्गत सभी चिकित्सा संस्थानो का विभाग के अधिकारियो/प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा औचक निरीक्षण करने के निर्देशों की पालना में प्रार्थी अधिकारी द्वारा दिनांक 4 मार्च 2024 को लगभग प्रातः 11.30 बजे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बम्बोरा गिर्वा जिला उदयपुर का निरीक्षण करने पहुंचे। 

CMHO ने बताया कि निरीक्षण के लिये चिकित्सा अधिकारी प्रभारी के कक्ष में जाने पर चिकित्सा अधिकारी प्रभारी डॉ मुकेश अटल से औचक निरीक्षण के सन्दर्भ में आने की बात कही। लेकिन खुद स्वयं अपनी कुर्सी से नही उठे और कोई जवाब नहीं दिया, तब वह पास में पड़ी कुसी पर बैठकर औचक निरीक्षण संबंधी गतिविधियों के बारे में रिपोर्ट लेना चाहा तथा उपस्थिति पंजिका मांगी गयी तो डॉ मुकेश अटल अपना आपा खोकर तेज आवाज में अभ्रद भाषा का उपयोग करते हुए कक्ष से बाहर निकल गये ओर कहने लगा कि "सरकार के ऐसे औचक निरीक्षण बहुत देखे है जो भी करना है कर लेना।

CMHO ने बताया कि इस तरह उक्त चिकित्सक द्वारा राजकार्य-औचक निरक्षण करने" में बाधा उत्पन्न की एवं चिकित्सक होते हुए सहायोग नहीं किया और उल्टा खुद का मोबाईल किसी साथी को देकर विडियो रिकॉर्डिंग करवायी गयी ओर खुद निःशुल्क दवा वितरण केन्द्र जहां पर दवाई लेने के लिये मरीजो की लाईन लगी थी के पास बैंच पर बैठकर वही पर मरीजो को बुलाकर प्रार्थी अधिकारी पर आरोप लगाने लगा की वह चिकित्सक कक्ष में मरीज नहीं देखने दे रहे हैं। 

जबकि प्रार्थी अधिकारी (CMHO) ने उसे कहा गया कि कक्ष में बैठकर मरीज देखे लेकिन वह चिकित्सक ( डॉ मुकेश अटल) आवेश में आकर बदतमीजी से पेश आने लगा और प्रार्थी अधिकारी का अशोभनीय/असंसदीय भाषा जैसे बकवास करता है शब्दो का उपयोग कर बोलता रहा जो कि उसी के द्वारा बनाये गये विडियो में नजर आ रहा हैं। इस दौरान चिकित्सालय में मरीज एवं स्टाफ सहम गये तब प्रार्थी अधिकारी ने डॉ हर्षित सोनी चिकित्सा अधिकारी के आने पर औचक निरीक्षण किया गया।

CMHO ने बताया कि ततपश्चात् उक्त चिकित्सक डी.डी.सी. काउन्टर के पास बैठकर तु- तुकारे से अभद्र भाषा का प्रयोग करता रहा और एक बार पुनः कक्ष में आकर उन्हें अभद्र भाषा से तिरस्कार करता रहा तथा तेरे जैसे बहुत देखे ऐसे कहकर धमकाने एवं मारने की कोशिश की !इस तरह की राजकीय चिकित्सालय में उक्त चिकित्सक द्वारा गैर कानूनी तरिके से विडियो बनाया और प्रार्थी को राजकार्य में बाधा उत्पन्न की।

CMHO ने बताया कि इस प्रकार उक्त चिकित्सा अधिकारी द्वारा किया गया कृत्य राज्य सरकार के पूर्ण आदेश या अनुदेशा जो कि 100 दिवसीय कार्य योजना के तहत् औचक निरीक्षण करने अनुदेशो की अवज्ञा करना, राजकार्य में बाधा उत्पन्न करना एवं प्रार्थी अधिकारी का तिरस्कार कर ड्यूटी के प्रति सत्यनिष्ठा नहीं बनाये रखने की श्रेणी में आता हैं। उक्त चिकित्सा अधिकारी डॉ० मुकेश अटल को राज्यादेशो के आदेशो की अवहेलना की है एवं राजकार्य में बाधा उत्पन्न की हैं। अतः उन्होंने निवेदन किया है कि उक्त चिकित्सक के इस अनुचित कृत्य को मध्येनजर में रखते हुए डॉ मुकेश अटल के विरूद्व आवश्यक सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही के तहत् निलंबन की कार्यवाही करावें

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal