देबारी गेट सेपरेट चौराहे के तीनो राजमार्ग पर जनता का प्रदर्शन, जलाए टायर

देबारी गेट सेपरेट चौराहे के तीनो राजमार्ग पर जनता का प्रदर्शन, जलाए टायर

आरयूबी, सर्विस रोड,अंडर पास की मांग पूरी नहीं हुईं तो आगे उग्र आंदोलन की चेतावनी

 
debari gate seprator

उदयपुर 14 फ़रवरी 2023। देबारी ग्रेट सेपरेट चौराहे को जोड़ने वाले दीवारी चित्तौड़ देबारी पिंडवाड़ा और देबारी काया बाईपास पर स्थानीय लोगों को रास्ते की समस्या के चलते जारी आंदोलन सोमवार को बड़े रूप में दिखा। इस चौराहे से जुड़ रहे तीनों साइड के राजमार्ग पर जनता ने चार जगह पर स्थानीय उपसरपंच चंदन सिंह देवड़ा के नेतृत्व में टायर जलाकर जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किए। प्रशासन से तुरंत प्रभाव से अधूरी पड़ी सर्विस रोड,अंडरपास और आरयूबी  का निर्माण करने की मांग रखी साथ ही चेतावनी दी कि अगर अब जल्द से जल्द इस समस्या से स्थानीय लोगों को निजात नहीं मिली तो जनता सड़कों पर उतरेगी और रेलवे ट्रैक पर उतरना पड़ा तो भी उतरेंगे।

आक्रोश देख छावनी में बदला देबारी 

देबारी में ग्रेट सेपरेट चौराहा बनने को लेकर रास्तों की समस्या खड़ी हुई उसके बाद से लगातार देबारी चित्तौड़ देबारी पिंडवाड़ा और देबारी काया बाईपास पर जनता आक्रोशित थी और पहली बार झरकी सराय रेलवे फाटक बंद करने के विरोध में शुरू हुआ। यह आक्रोश सभी तरफ भड़का और उसी के चलते सोमवार को प्रदर्शन हुए जनता के गुस्से को देखकर प्रशासन ने देबारी को छावनी में बदल दिया चप्पे-चप्पे पर पुलिस जाब्ता तैनात कर दिया शांतिपूर्ण ढंग से हुए प्रदर्शन के बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली।

यहां पर हुए प्रदर्शन

देबारी सिंगांवतो का वाडा दाह का खेड़ा मार्ग पर सर्विस रोड और अंडरपास को चौड़ा करने की मांग पर प्रदर्शन हुआ इस दौरान पूर्व उपसरपंच दौलत सिंह, मोड सिंह, रमेश चौधरी, मक्खन सिंह, उदय सिंह, जय सिंह, शांति लाल मेघवाल, पृथ्वी सिंह, मुकेश, लोकेंद्र सिंह, केसर सिंह समेत कई महिलाएं बच्चे युवा और ग्रामीण एकत्रित हुए टायर जलाकर जमकर प्रदर्शन किया और तहसीलदार गिर्वा को ज्ञापन सौंपा। 

लगातार मांग करने पर भी अब तक समस्या का समाधान हल नहीं होने के चलते उपसरपंच चंदन सिंह और गिर्वा तहसीलदार नरेंद्र सिंह आपस में गर्मागर्म  बहस से उलझ गए इस पर डिप्टी शिप्रा राजावत प्रतापनगर थानाधिकारी दर्शन सिंह ने समझाइश कर माहौल शांत कराया।

लोहारवाड़ा मेघवाल बस्ती और सदर के ग्रामीणों ने लोहार बड़ा लिंक रोड पर प्रदर्शन किया इलाके के सैकड़ों आदिवासी महिलाएं युवा और स्थानीय ग्रामीण प्रदर्शन करते हुए टायर जलाकर जमकर नारेबाजी की ग्रामीणों ने कहा कि उनकी खेती, स्कूल, शमशान आंगनबाड़ी, ई मित्र, राशन दुकान सब हाईवे पार है लेकिन प्रशासन ने अंडरपास नहीं दिया जिससे वह रोजाना मौत के साए में जी रहे हैं सड़क पार करना दूभर हो गया है। 2 किलोमीटर चक्कर काटकर वह अपने घर पहुंच पाते हैं। इस जगह मुकेश लोहार, डालचंद, हरलाल लोहार, नंदलाल वेद, चतुर्भुज लोहार, पूर्ण गमेती, भंवर लाल गमेती, देवी लाल गमेती समेत कई लोग उपस्थित थे।

देबारी पिंडवाड़ा राजमार्ग पर माताजी का खेड़ा कला कला मुहाने पर ग्रामीणों ने टायर जलाकर सड़क के दाने प्रदर्शन किया और नारेबाजी की यहां पर भी शमशान, स्कूल, आंगनवाड़ी, धार्मिक स्थल हाईवे पर होने से लोगों को भारी दिक्कत झेलनी पड़ रही है 3 किलोमीटर का चक्कर मार कर लोग अपने गंतव्य पर पहुंचते हैं। किसान खेती बाड़ी नहीं कर पा रहे हैं, मवेशी सड़क पार नहीं कर पाते हैं और कई बार सड़क हादसे हो रहे हैं। इस दौरान चंदन सिंह, जामत सिंह, देवी सिंह, मोहन सिंह, भंवर गमेती, दौलत सिंह, पिंटू समेत कई ग्रामीण मौजूद रहे और महिलाओं बच्चों के साथ प्रदर्शन किया मौके पर पहुंचे कुराबड तहसीलदार और गिर्वा तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा गए।

देबारी झरनों की सराय रेलवे फाटक को बंद करने से उपजे विरोध के चलते झरनों की सराय, धोनी माता, डूंगरी फला, कु बावड़ी, कुंडी बाड़ा, महावीर रेजिडेंसी, श्री राम नगर समेत करीब 12 मोहल्लों के लोग एकत्रित हुए और रेलवे फाटक के पास टायर जलाकर जोरदार नारेबाजी की। इस दौरान जिंक उपसरपंच दूल्हे सिंह देवड़ा, वार्ड पंच रामलाल, भंवरलाल, कैलाश टेलर, खेमराज गायरी, राजू गायरी, राहुल वैष्णव, लोकेश पालीवाल समेत स्कूली बच्चे महिलाएं युवा शामिल थे ग्रामीणों ने आर यू बी बनाकर देने तक रेलवे फाटक को बंद नहीं करने की चेतावनी दी इस दौरान रेलवे सुरक्षा बल प्रताप नगर समेत तीन थानों का जाब्ता रेलवे ट्रैक पर मौजूद रहा।

जहां प्रदर्शन वहीं एक घण्टे बाद दो सड़क हादसे 

सिंह रावत वाडा कट पर जहां 2 घंटे तक प्रदर्शन चला उसके बाद 1 घंटे बाद ही स्थानीय ग्रामीण भंवर सिंह देवड़ा को बेकाबू वाहन ने चपेट में ले लिया जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए उन्हें निजी अस्पताल में पहुंचाया गया. इसके कुछ देर बाद ही एक कार ने बाइक सवार को चपेट में ले लिया जिससे वह भी गंभीर रूप से घायल हो गया इससे लोगों में गहरा आक्रोश भड़का हुआ है। ऐसे में प्रशासन को समय रहते इस एक्सीडेंटल जॉन को खत्म करना होगा

प्रशासन ने बुलाई बैठक 

सुबह 10:00 बजे से लेकर 1:00 बजे तक चले धरना प्रदर्शन के बाद जनता के आक्रोश को देखते हुए स्थानीय पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने जिला कलेक्टर से वार्ता कर संबंधित एनएचआई रेलवे विभाग के साथ प्रशासनिक और जनप्रतिनिधियों की संयुक्त बैठक निर्धारित की। जिसमें कलक्टर ने प्रतिनिधी मंडल से वार्ता कर खुद मंगलवार सुबह 7 बजे चारो मौके देखकर स्थाई समाधान करने का आश्वासन दिया।

समाधान नहीं निकला तो G20 के मेहमानो का काले झंडो से होगा स्वागत 

देबारी उपसरपंच चंदन सिंह देवड़ा ने साफ कहा कि जनता आक्रोश से गले तक भर चुकी है रोजाना सड़क हादसे हो रहे हैं और अब अगर रेलवे आरयूबी, लोहार बड़ा, माताजी का खेड़ा अंडर पास, सिंगावतवाडा, दाह का खेड़ा सर्विस रोड अंडरपास तक नहीं बनी तो अगले महीने होने वाले G-20 के राजनयिकों का डबोक एयरपोर्ट से उदयपुर आते समय देबारी में महिलाएं बच्चे युवा बुजुर्ग सभी मिलकर काले झंडे दिखाकर स्वागत करेंगे जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal