डूंगरपुर-7 फ़रवरी 2024 की प्रमुख खबरे

डूंगरपुर-7 फ़रवरी 2024 की प्रमुख खबरे 

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े उदयपुर टाइम्स पर 
 
Dungarpur

News-जिला कलक्टर ने राष्ट्रपति के दौरे को लेकर विभागवार तय की जिम्मेदारी
महामहिम राष्ट्रपति की श्री बेणेश्वर धाम में 14 फरवरी को प्रस्तावित यात्रा

डूंगरपुर, 07 फरवरी। महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू के 14 फरवरी को जिले के बेणेश्वर धाम में प्रस्तावित यात्रा कार्यक्रम के मद्देनजर जिला कलक्टर अंकित कुमार सिंह ने विभागवार जिम्मेदारी तय की है। जिला कलक्टर के आदेशानुसार जिला पुलिस अधीक्षक सुरक्षा, सेफ हाउस, यातायात एवं पार्किंग, कानून एवं शांति व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। 

जिला परिषद सीईओ गितेश श्री मालवीय राष्ट्रपति महोदया के प्रोटोकॉल के दायित्वों का निर्वहन करेंगे। अधीक्षण अभियंता पीएचईडी डूंगरपुर बेणेश्वर धाम पर कार्यक्रम के दौरान पेयजल व्यवस्था, अधीक्षण अभियंता एवीवीएनएल विद्युत वितरण व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। इसी प्रकार सीएमएचओ डूंगरपुर, पीएमओ सागवाड़ा, जिला परिवहन अधिकारी, जिला रसद अधिकारी, जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी, जिला सूचना एवं जनसम्पर्क अधिकारी, संयुक्त निदेशक डीओआईटी, जिला परियोजना प्रबंधक राजीविका सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों को विभागवार दायित्व सौंपे गए हैं। जिला कलक्टर ने सभी विभागीय अधिकारियों को आपसी समन्वय रखते हुए सूचनाओं के त्वरित आदान-प्रदान करने और पूर्ण सजगता के साथ सौंपे गए दायित्वों का निर्वहन करने के निर्देश दिए हैं। किसी प्रकार की शिथिलता को अत्यंत गंभीरता से लिया जाएगा।

News-मुख्य सचिव सुधांश पंत ने महामहिम राष्ट्रपति के दौरे को लेकर ली बैठक
डूंगरपुर जिला कलक्टर-एसपी जुडे़ वीसी से

जयपुर-डूंगरपुर, 7 फरवरी। राजस्थान सरकार के मुख्य सचिव श्री सुधांश पंत ने बुधवार को महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू की 14 फरवरी को प्रस्तावित राजस्थान यात्रा की तैयारियों को लेकर बैठक ली। डूंगरपुर जिला कलक्टर अंकित कुमार सिंह, जिला पुलिस अधीक्षक कुन्दन कंवरिया, अतिरिक्त जिला कलक्टर कुलराज मीणा सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी डूंगरपुर एनआईसी के वीसी कक्ष से बैठक में शामिल हुए।

जिला कलक्टर अंकित कुमार सिंह ने महामहिम राष्ट्रपति के दौरे की तैयारियों की जानकारी दी। वीसी के पश्चात जिला कलक्टर अंकित कुमार सिंह ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों से एक-एक कर तैयारियों के संबंध में जानकारी ली तथा आवश्यक निर्देश दिए। रसद विभाग को भोजन व्यवस्था, चिकित्सा विभाग को मेडिकल टीम व अन्य व्यवस्थाएं समय पर तैयार रखने, पीडब्लयूडी विभाग को टेंट की व्यवस्था, हेलीपेड से लेकर मंदिर तक पेच वर्क, बेरिकेडिंग व्यवस्था, मंच, बैठक व्यवस्था, फर्नीचर की व्यवस्था पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने शौचालयों की व्यवस्था, साफ-सफाई, और सफाई कर्मचारियों की टीम समय पर तैयार रखने एवं तैयारियों में किसी प्रकार की शिथिलता और समन्वय की कमी नहीं रखने के निर्देश दिए।

News-जिला परिषद सीईओ ने किया ग्राम पंचायत सतीरामपुर व वागदरी का औचक निरीक्षण

डूंगरपुर, 07 फरवरी। मुख्य कार्यकारी अधिकारी गितेश श्री मालवीय ने ग्राम पंचायत सतीरामपुर एवं वागदरी का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मुख्य कार्यकारी अधिकारी गितेश श्री मालवीय ने ग्राम पंचायत सतीरामपुर में निर्माणाधीन अनाज गोदाम का कार्य लम्बे समय से बंद पड़ा मिला। भवन के एक कक्ष में ग्राम पंचायत के नागरिक द्वारा निवास स्थल बनाकर निवास करना पाया गया जो राजकीय सम्पत्ति का स्पष्ट दुरूपयोग है। 

ग्राम विकास अधिकारी को इसे तुरन्त खाली कराने एवं भवन का कार्य 15 दिवस में पूर्ण करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने ग्राम पंचायत भवन व अन्य राजकीय भवनों की साफ-सफाई व रिकार्ड को व्यवस्थित करने व परिसर में वृक्षारोपण, शौचालय की साफ-सफाई करने के निर्देश दिए।

जिला परिषद सीईओ श्री मालवीय ने ग्राम पंचायत सतीरामपुर में जन सुविधा केन्द्र (सीएससी) संचालक अनिल मनात द्वारा प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना में रजिस्ट्रेशन के बदले 50 रूपए प्रति रजिस्ट्रेशन लेने की शिकायत सामने आई है। नागरिकों को निःशुल्क रजिस्ट्रेशन की जानकारी देने व केन्द्र के बाहर निःशुल्क रजिस्ट्रेशन लिखवाने के निर्देश दिए। जन सुविधा केन्द्र के संचालक के विरूद्व कार्यवाही के लिए संबंधित अधिकारियों को लिखा जाएगा। 

महात्मा गांधी नरेगा योजना के अन्तर्गत स्वीकृत कार्य बदी वाला एनिकट गहरा करना कार्य, सतीरामपुर का निरीक्षण किया गया। मौके पर पिछले दिनों में दिए गए टास्क के अनुसार कार्य मौके पर नहीं पाया गया है। मस्टरोल में टास्क का भी इन्द्राज नहीं पाया गया। मस्टरोल के अवलोकन में स्पष्ट है कि पिछले दिनों में कनिष्ठ तकनीकी सहायक द्वारा कार्य का निरीक्षण भी नहीं किया गया। 

कनिष्ठ तकनीकी सहायक को नोटिस देने के लिए विकास अधिकारी पंचायत समिति को निर्देश दिए। उन्होंने महात्मा गांधी नरेगा योजना के अन्तर्गत वडली पाडा तालाब गहरा कराना कार्य का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान मस्टरोल में श्रमिकों की औसत उपस्थिति से कम श्रमिक उपस्थित पाए। मस्टरोल का अवलोकन करने पर पाया गया कि प्रतिदिन मस्टरोल में 40 श्रमिकों को उपस्थिति दर्ज की हुई थी। किन्तु निरीक्षण दिवस के दिन 26 श्रमिकों की उपस्थिति दर्ज पायी गई है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal