चौधरी अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाकर युवती बैठी धरने पर

चौधरी अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाकर युवती बैठी धरने पर 

जिला पुलिस अधीक्षक ने मामले की जांच को डिप्टी पुलिस अधीक्षक शिप्रा राजावत को सौंप दी।  

 
allegation on choudhary hospital

उदयपुर 10 अक्टूबर 2022। चौधरी हॉस्पिटल पर इलाज के दौरान गंभीर लापरवाही का आरोप लगाकर अस्पताल बंद करवाने की मांग को लेकर आज एक युवती कलेक्ट्रेट के बाहर धरने पर बैठ गई। युवती का नाम यामिनी पालीवाल है और वह कॉमर्स कॉलेज की तृतीय वर्ष की छात्रा है। जिला पुलिस अधीक्षक ने मामले की जांच को डिप्टी पुलिस अधीक्षक शिप्रा राजावत को सौंप दी।  

दरअसल युवती के दादा दादी को बीमार होने पर चौधरी हॉस्पिटल में भरी करवाया गया था। जहाँ गत 5 अक्टूबर को युवती के दादाजी की इलाज के दौरान मौत हो गई थी और उसी रात को दादी की भी इलाज के दौरान मौत हो गई।  युवती ने चौधरी अस्पताल पर इलाज के दौरान गंभीर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। 

युवती ने सम्बंधित थाने में भी रिपोर्ट दी थी लेकिन अब तक कार्यवाही नहीं होने पर युवती आज कलेक्ट्रेट पर धरने पर बैठ गई। युवती ने पुलिस पर भी अस्पताल का पक्ष लेने  का आरोप लगाया। 

युवती ने बताया की अरजीएचएस कार्ड के आधार पर निःशुल्क इलाज करने की बात कही गई थी लेकिन दादा दादी की मौत के बाद अस्पताल ने उनसे पूरा खर्चा की मांग की। घटना की रात जब उसके दादाजी की हालत बिगड़ी तो युवती ने दुसरे अस्पताल में ले जाने की बात भी कही। युवती ने बताया की उस अस्पताल में डॉक्टर्स ही नहीं अन्य मेडिकल स्टाफ की भी कमी है यहाँ तक की एम्बुलेंस भी नहीं है इसलिए उन्हें गीतांजलि अस्पताल से एम्बुलेंस मंगवानी पड़ी।  

डिप्टी शिप्रा राजावत ने बताया की पूर्व में एसपी ऑफिस में मामले की शिकायत की जिसको लेकर सोमवार को युवती के बयान दर्ज कर लिए गए है। अब आगे पूरे मामले की जाँच के बाद ही मामले में उचित कार्यवाही की जाएगी। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal