शुरू हो रहा है राजस्थान की कला और संस्कृति को दर्शाता 'कुंभलगढ़ फेस्टिवल'

शुरू हो रहा है राजस्थान की कला और संस्कृति को दर्शाता 'कुंभलगढ़ फेस्टिवल'

दिसंबर माह में एक से बढकऱ एक उत्सव

 
udaipur winter festival

उदयपुर, 1 दिसंबर। राजस्थान की कला और संस्कृति ही हर साल लाखों की संख्या में पर्यटकों को इसके अलग-अलग कोने तक खींच लाती है। खासतौर पर सर्दियों के मौसम में राजस्थान में एक के बाद एक कई त्योहार और मेले आयोजित होते हैं। हाल ही पुष्कर में विश्व प्रसिद्ध ऊंट मेला का आयोजन किया गया था। 1 दिसंबर से जहां कुंभलगढ़ उत्सव का आगाज होगा तो वहीं आने वाले दिनों में शिल्पग्राम उत्सव आयोजित होगा। इसके बाद क्रिसमस, न्यू ईयर का सेलिब्रेशन भी खास होगा। ऐसे में उदयपुर एक खूबसूरत डेस्टिनेशन बन जाएगा, जहां सर्दियों में घूमने का लुत्फ लेने के लिए कोई भी पहुंच सकता है। 

शिल्पग्राम उत्सव 21 से शुरू 

पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की ओर से राष्ट्रीय हस्तशिल्प व लोककला के दस दिवसीय शिल्पग्राम उत्सव का आगाज 21 दिसंबर से होगा। वहीं, राजस्थान के हिल स्टेशन माउंट आबू में भी तीन दिवसीय शरद महोत्सव दिसंबर अंत में होता है। दिसंबर का अंतिम सप्ताह हिल स्टेशन माउंट आबू के पर्यटन व्यवसाय के लिए भी पीक सीजन होता है। इस दौरान यहां हजारों की संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक पहुंचते हैं।

कुंभलगढ़ उत्सव आज से 

मेवाड़ की समृद्ध शासन व्यवस्था और इस राजस्थानी लोककथाओं के लिए मशहूर कुंभलगढ़ फेस्टिवल राजस्थान को देखने-समझने में पर्यटकों की काफी मदद करता है। ऐतिहासिक कुंभलगढ़ दुर्ग परिसर में पर्यटन विभाग के तत्वावधान में तीन दिवसीय कुंभलगढ़ फेस्टिवल का आयोजन 1 से 3 दिसंबर के बीच होगा। इसमें सुबह 11 बजे से लेकर दोपहर 3 बजे तक राजस्थानी लोक कलाकारों द्वारा नृत्य और संगीत कार्यक्रम होंगे। इसमें घूमर, चकरी, सहरिया स्वांग, कच्छी घोड़ी, लाल गैर, लंगा मांगणियार आदि की प्रस्तुतियां होंगी। वहीं, पगड़ी बांधो प्रतियोगिता का आयोजन भी कराया जाएगा।

होटलों में बुकिंग्स शुरू 

शिल्पग्राम महोत्सव के साथ न्यू ईयर मनाने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक लेकसिटी आते हैं। दिसंबर के आखिरी सप्ताह तक सभी होटलों में बुकिंग फुल हो जाती है। बुकिंग्स की अभी से होने लगी है। न्यू ईयर को लेकर होटल और रेस्टोरेंट्स में खास तैयारियां शुरू होती हैं। होटल्स में सजावट थीम बेस्ड होता है। गाला डिनर के आयोजन भी होते हैं।

दिसंबर माह में अधिक आते हैं पर्यटक

साल के आखिरी वीकेंड में यानी क्रिसमस से लेकर न्यू ईयर सेलिब्रेशन तक जितने पर्यटक उदयपुर में टूरिस्ट स्पॉट्स पर पहुंचते हैं उतने बाकी के महीनों में नहीं पहुंचते। शहर में साल के आखिरी तीन दिन में लगभग 10 से 15 हजार तक पर्यटक आते हैं। टूरिज्म बूम 25 दिसम्बर से आठ जनवरी तक रहता है और इस समय विदेशी टूरिस्ट का आना भी होता है, जो 15 मार्च तक रहता है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal