महाराष्ट्र के मौसम से बिगड़ सकता है आप के किचन का बजट

महाराष्ट्र के मौसम से बिगड़ सकता है आप के किचन का बजट

सूखे ने बढ़ाए सब्जियों के दाम, आवक कम

 
Untimely Rain results in Crop Drop

उदयपुर, 23 अक्टूबर। आने वाले समय में किचन का बजट बिगाड़ सकता है क्योंकि जिस राज्य में प्याज, दाल, चीनी, फल और सब्जियां अधिक मात्रा में उगाई जाती है वहां सुखे जैसे हालात बने हुए हैं। महाराष्ट्र में सूखे जैसे हालात के कारण प्याज, दालें, चीनी, फल और सब्जियों की आपूर्ति कम होने की आशंका है। बारिश न होने की वजह से ये सभी उत्पाद खराब हो रहे हैं। महाराष्ट्र में रबी की फसल बोए जाने के बाद से बारिश नहीं हुई है जिसकी वजह से किसानों के फसलें बरबाद हो रही हैं।

पांच की जगह दो एकड़ में प्याज की बुआई

इससे इन वस्तुओं की कीमतें बढ़ सकती हैं। दरअसल, महाराष्ट्र इनका प्रमुख उत्पादक है। इसके अलावा कर्नाटक से भी आपूर्ति कम रहने के आसार हैं। महाराष्ट्र में जलाशयों का स्तर भी पिछले साल इसी अवधि की तुलना में 20% कम है। रबी सीजन में जो किसान पांच एकड़ में प्याज लगाते थे, वे दो एकड़ में ही लगा रहे । डीलर बीते छह-सात वर्षों में पहली बार प्याज के 50% बीज कंपनियों को लौटाने को मजबूर हैं।

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, महाराष्ट्र में मानसून सामान्य था, लेकिन मराठवाड़ा, मध्य महाराष्ट्र व उत्तर महाराष्ट्र में बहुत कम बारिश हुई। इससे अरहर व चीनी का उत्पादन गिरना तय है, जबकि गेहूं और चने की बुआई भी कम उत्पादन का संकेत दे रही है। गेहूं की पैदावार महाराष्ट्र में ज्यादा नहीं। लेकिन, इसमें कमी का असर भी दूसरे राज्यों पर दिखेगा। वहीं पहले से ही प्याज के दाम आसमान छू रहे हैं। अरहर व चने की उपज कर्नाटक में भी 10-15% तक कम रहने की आशंका है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal