महिला डॉ ने मरीज़ के साथ आये युवको पर लगाया बदसुलूकी का आरोप

महिला डॉ ने मरीज़ के साथ आये युवको पर लगाया बदसुलूकी का आरोप 

हॉस्पिटल प्रशासन ने बनाई कमिटी, होगी कार्यवाही, इधर, आरोपी ने भी अपना पक्ष रखा

 
hospital

उदयपुर। शहर के एमबी हॉस्पिटल में बुधवार रात्रि में आई वार्ड में अपने परिजन की आँखों का इलाज कराने गए एक यू ट्यूबर ने डॉक्टर पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए विडियो बना सोशल मिडिया में वायरल कर दिया। जिससे खफा हो कर अब हॉस्पिटल प्रबन्धक और रेजिडेंट एसोसिएशन ने वार्ड में बिना परमिशन विडियो बनाने व् महिला कर्मियों से अभद्रता पूर्वक बात करने और राज कार्य में बाधा पहुचने के मामले दर्ज करने की बात कर रहा है। 

वार्ड में मौजूद महिला डॉ शुभांगी ने बताया की मरीज के इलाज के दोरान जांच के बाद आधे घंटे रुकने और पेशेंट के साथ आए हुए लोगो को नर्सिंग स्टाफ ने वार्ड में सिर्फ पेशेंट के साथ सिर्फ एक को ही रुकने के लिए कहा। वही साथ में आए लोगो को बाहर इन्तजार करने के लिए कहा तो उनमे से एक युवक स्टाफ के लोगो की वीडियो बनाने लग गया।  हॉस्पिटल प्रशासन ने बताया की विडियो बनाने का उद्देश्य सिर्फ उनके यूट्यूब के फोलोवार्स बढ़ाना ही मकसद रहा होगा क्योकि हॉस्पिटल वार्ड में किसी भी तरह के विडियो बनाने की इजाजत नही हे।  

वही एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ दीपक ने कहा की वार्ड में मोजूद चारो महिला डॉक्टर्स ने मरीज के जांच से लेकर जो इलाज़ करना था कर दिया उसके बाद आधे घंटे रुकने को कहा गया तो मरीज के साथ आए लोगो ने धमकी देकर विडियो बना लिए। जिससे आम जनता के बीच डॉक्टर के पेशे में बदनामी हुई हे जिसे कभी बर्दाश्त नही किया जायेगा।  इसके लिए हॉस्पिटल प्रशासन से मिल उन लोगो के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गई।  

हॉस्पिटल के कार्यवाहक अधीक्षक आर एन बैरवा ने इस पुरे मामले में कहा की इस पुरे मामले को लेकर एक कमिटी बनाई गई है जो इस मामले की जांच पड़ताल करेगी रिपोर्ट आने के बाद कार्यवाही की जाएगी।

आरोपी का पक्ष 

घटना पर बात करते हुए संभव ने कहा कि वह अपने भाई के साथ अपनी बहन के आंखों के इलाज के लिए एमबी हॉस्पिटल गए थे। उस समय उनके मामा भी उनके साथ में थे। संभव ने आरोप लगाते हुए कहा कि जैसे ही वह लोग अस्पताल के (आई वार्ड) में पहुंचे तो वहां 4 डॉक्टर मौजूद जिनमें से दो डॉक्टर उनसे बहुत ही अच्छे तरीके से बात कर रहे थे वहीँ दो डॉक्टरो ने उन्हें वार्ड से बाहर निकलने के लिए कहा। डॉक्टर से उन्हें बार-बार बाहर आने के लिए कहा और इसी के चलते वह लोग वार्ड से बाहर आ गए लेकिन उन्होंने अपनी मामी को बहन के पास वार्ड के अंदर भेज दिया। लेकिन डॉक्टर ने उनके साथ अभद्र शब्दों का प्रयोग किया।

उनका कहना था कि डॉक्टर ने उनकी मामी को भी वार्ड के बाहर निकाल दिया और वहां उनकी बहन की आंख में टॉर्च डाली फिर कभी अपनी खुद की आंखों में टॉर्च डाली ऐसे करके वह खेलने लगे और फोन पर बातें कर रहे थे। जब संभव और उनके घर वालों ने प्राइवेट हॉस्पिटल के डॉक्टर से अपॉइंटमेंट लिया और वहां से जाने की इच्छा जाहिर की तो वहां मौजूद डॉक्टर ने उनसे वहीं रुके रहने की बात की और उनके साथ चिढ कर बात की। 

संभव को कहना है कि जब उन्होंने डॉक्टर से आराम से बात करने की बात कही तो उन्होंने कहा कि उनका टोन ही ऐसा है। संभव को कहना था कि वहां मौजूद सभी डॉक्टर नहीं सिर्फ दो ही डॉक्टर ने उनके साथ बदतमीजी से बात की।

लगातार इन दोनों डॉक्टर की बदतमीजी के बाद उन्होंने लाइव स्ट्रीमिंग शुरू कर दी और लाइव स्ट्रीमिंग के दौरान भी कई सारे लोगों ने उन दोनों डॉक्टर के लिए कमेंट में लिखा कि उनके साथ भी इन दोनों डॉक्टर ने बदसलूकी से ही बर्ताव किया था। उनका कहना है कि लाइव स्ट्रीमिंग के बाद 50 लोगों के रिस्पांस उनके पास आए हैं। सभी ने उन दोनों डॉक्टर के लिए उनके साथ बदसलूकी से व्यवहार करने की बात कही है।

उनका कहना है कि जब लाइव स्ट्रीमिंग के दौरान उनके खिलाफ लोगों ने लिखना शुरू किया तो उन्होंने डॉक्टर कार्ड खेलना शुरू कर दिया। संभव ने कहा कि उनका किसी भी कम्युनिटी के खिलाफ एक्शन नहीं था। वह कहते हैं कि डॉक्टर तो लोगों की जान बचाते हैं और वह डॉक्टर और डॉक्टर कम्युनिटी का सम्मान करते हैं। उस समय वहां पर और भी स्टाफ मौजूद था लेकिन इन दोनों डॉक्टर के अलावा किसी ने भी कोई बदतमीजी उनके साथ नहीं की। उनका कहना है कि अब इन दोनों डॉक्टर द्वारा झूठा प्रोपेगेंडा बनाया जा रहा है, क्योंकि उसे घटना के बाद उनकी बहन की आंखों का इलाज करने वाले भी डॉक्टर  हैं और वह डॉक्टर का सम्मान करते हैं।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal