स्मार्ट सिटी अधिकारियों और वार्ड पार्षदों की हुई बैठक


स्मार्ट सिटी अधिकारियों और वार्ड पार्षदों की हुई बैठक

महापौर, आयुक्त, उपमहापौर रहे मौजूद

 
umc
UT WhatsApp Channel Join Now

उदयपुर 13 जनवरी 2024।  नगर निगम उदयपुर में शुक्रवार को स्मार्ट सिटी अधिकारियों एवं नगर निगम वार्ड पार्षदों की बैठक आयोजित की गई जिसमें कई ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा कर समस्या के समाधान हेतु विचार विमर्श किया गया। 

नगर निगम उप महापौर एवं स्वास्थ्य समिति अध्यक्ष पारस सिंघवी ने बताया कि 4 जनवरी को आयोजित हुई बोर्ड बैठक में स्मार्ट सिटी के अंतर्गत हो रहे कार्यों में देरी एवं गुणवत्तापूर्ण कार्य नहीं होने की शिकायत प्राप्त हुई थी जिस पर महापौर गोविंद सिंह टांक ने जल्द ही शहर कोट अंदर पार्षदों और स्मार्ट सिटी अधिकारियों की साझा बैठक आयोजित करने का तय किया जिससे समस्या का उचित समाधान एवं निराकरण निकाला जा सके। 

निर्देश की पालना में शुक्रवार को नगर निगम मिनी मीटिंग हॉल में बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें नगर निगम महापौर गोविंद सिंह टॉक, निगम आयुक्त राम प्रकाश, स्मार्ट सिटी ए सीईओ छोगा राम देवासी, उप महापौर पारस सिंघवी, स्मार्ट सिटी अधिकारी मुकेश पुजारी, अधिशासी अभियंता दिनेश पंचोली, करनेश माथुर, रितेश पाटीदार सहित एलएनटी के अधिकारी के साथ ही पार्षद देवेंद्र साहू, मदन दवे, रुचिका चौधरी, डॉ शिल्पा पामेचा, तारा शर्मा,  गौरव प्रताप, गोपाल जोशी, शहनाज अयूब, चमन आरा, नेहा कुमावत, आशा सोनी, आदि उपस्थित रहें।

बैठक में उपस्थित अधिकारियों ने पार्षदों से अपने-अपने वार्डों की समस्याओं के बारे में जानकारी प्राप्त की साथ ही उस समस्या का निराकरण कैसे किया जा सके उसको लेकर भी विस्तृत चर्चा की। पार्षदों ने जिन समस्याओं से अवगत कराया उसमे प्रमुख रूप से सिवरेज जाम समस्या, चेंबर से प्रतिदिन निकलने वाले दूषित पानी, चेंबर के ढक्कन रोड के समानांतर नहीं होना, स्मार्ट सिटी कार्य की गति बहुत धीमी होना, सीवरेज का पानी पुनः घरों में घुसना एवं तकनीकी खामियों के चलते सड़क सही नहीं बनाया जाना, विद्युत केवल भूमिगत नहीं होना, विद्युत पोल नहीं हटाया जाना इत्यादि सामने आए जिस पर महापौर गोविंद सिंह टॉक ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए की यह सभी समस्याएं सभी वार्डो की आम समस्याएं हैं, इसलिए एक बार जल्द से जल्द इन समस्याओं का समाधान किया जाए जिससे जो भी कार्य अभी तक पूर्ण हुए हैं उनमें कमियों को लेकर हो रहे विरोधाभास को दूर किया जा सके। साथ ही सभी कार्य तकनीकी रूप से सही हो इसका भी ध्यान रखा जाए।

बैठक की जरूरत ही क्यों पड़ी।

शुक्रवार को नगर निगम में आयोजित हुई पार्षद और स्मार्ट सिटी अधिकारियों की बैठक में उप महापौर पारस सिंघवी ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी अधिकारियों द्वारा पार्षदों एवं आमजन की समस्याओं को अनसुना किया गया। कार्य सही समय पर गुणवत्ता पूर्वक नहीं किए गए जिसका परिणाम यह है कि आज हम सबको बैठकर किए गए कार्यों में कैसे सुधार किया जाए इसको लेकर मंथन करना पड़ रहा है। यदि हम अपने कार्यों को पहले ही जनता एवं पार्षदों के साथ मिलकर संपूर्ण करते तो आज हमें बैठक करने की जरूरत नहीं पड़ती। 

आयुक्त स्वयं करेंगे गुणवत्ता की जांच

 नगर निगम आयुक्त राम प्रकाश ने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि नगर निगम के कार्यों की गुणवत्ता में किसी भी प्रकार की कोई कसर नहीं छोड़े। आयुक्त ने कहा कि नगर निगम द्वारा संपादित किए गए कार्यों की आकस्मिक जांच की जाएगी। किए जा रहे कार्यों में किसी भी प्रकार की कोई कमी रही तो संबंधित अधिकारी की जवाबदेही रहेगी।

प्रत्येक वार्ड की समस्या का होगा समाधान

शुक्रवार को नगर निगम में आयोजित हुई बैठक में स्मार्ट सिटी एसीईओ छोगा राम देवासी ने सभी को आश्वस्त किया कि जल्द ही सभी वार्डों की समस्या का निराकरण किया जाएगा। इस हेतु एक वार्ड को चिन्हित कर सभी समस्या को दूर किया जाएगा जिससे पुनः उसे वार्ड में नहीं आना पड़े।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal