न्यायालय के स्टे के बावजूद चंपा बाग की भूमि पर लगातार अवैध निर्माण

न्यायालय के स्टे के बावजूद चंपा बाग की भूमि पर लगातार अवैध निर्माण

चंपा बाग प्रकरण में समुचित कार्रवाई नहीं होने से कुलपति नाराज, कहा राज्यपाल एवं उच्च शिक्षा मंत्री को करेंगे सूचि

 
MLSU

कुलपति ने चेतावनी दी कि वे इस संबंध में प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन कर जमीन पर किए जा रहे अवैध निर्माण की जानकारी देंगे

मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अमेरिका सिंह ने चंपा बाग पर विश्वविद्यालय की बेशकीमती जमीन पर हो रहे अवैध निर्माणों को रोकने की दिशा में अभी तक कोई सक्षम और समुचित कार्रवाई नहीं होने पर नाराजगी जाहिर की है।

कुलपति प्रोफ़ेसर अमेरिका सिंह ने बताया कि उन्होंने विश्वविद्यालय की चंपा बाग स्थित बेशकीमती जमीन पर भू माफियाओं के कब्जे की शिकायत राज्यपाल एवं राज्य सरकार को की थी। इस पर राज्यपाल ने संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे, लेकिन अब तक इस संबंध में कोई कार्यवाही नहीं की गई है। शुक्रवार को एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने इस संबंध में प्रदर्शन भी किया था। विद्यार्थियों ने कहा था कि वे विश्वविद्यालय की जमीन को सुरक्षित करना चाहते हैं, भू माफियाओं से बचाना चाहते हैं। 

कुलपति प्रोफ़ेसर सिंह ने आरोप लगाया कि न्यायालय के स्टे के बावजूद चंपा बाग की भूमि पर लगातार अवैध निर्माण किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि नगर निगम और डीआईजी स्टांप की ओर से विश्वविद्यालय को कोई सहयोग नहीं किया जा रहा है। उन्होंने चेतावनी दी कि दीक्षांत समारोह के तत्काल बाद राज्यपाल एवं उच्च शिक्षा मंत्री राजेंद्र सिंह यादव को संपूर्ण प्रकरण की जानकारी दी जाएगी।

साथ ही कुलपति ने चेतावनी दी कि वे इस संबंध में प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन करेंगे और जनता के समक्ष भू माफियाओं के कब्जे और विश्वविद्यालय की बेशकीमती जमीन पर किए जा रहे अवैध निर्माण की जानकारी देंगे। कुलपति प्रोफेसर सिंह अपने 5 दिन के आधिकारिक प्रवास पर जोधपुर में है। अगले सप्ताह उदयपुर लौटते ही वे इस संबंध में कार्यवाही शुरू करेंगे।

कुलपति प्रोफ़ेसर सिंह ने बताया कि चंपा बाग की बेशकीमती भूमि पर बने टाया और गट्टानी रिसोर्ट में 1 दिन की शादी के 5 से 10 लाख रुपये वसूल किए जाते हैं। उन्होंने शहरवासियों से आग्रह किया कि इस विवादित भूमि पर शादी समारोह के आयोजन ना करें एवं जो बुकिंग करवा रखी है उसको निरस्त करवा दें

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal