सरकार की इस योजना से 18 पारंपरिक कौशल वाले व्यवसायों को सहायता मिलेगी

सरकार की इस योजना से 18 पारंपरिक कौशल वाले व्यवसायों को सहायता मिलेगी

पीएम विश्वकर्मा योजना का लाभ उठाने के लिए ऐसे करें आवेदन

 
PM Vishvkarma yojana

उदयपुर, 3 जनवरी। वर्तमान समय में केंद्र सरकार और राज्य सरकारें की तरफ से हर वर्ग के लिए अलग-अलग योजनाएं चलाई जा रही हैं। यह योजनाएं लाभकारी और कल्याणकारी हैं। किसानों से लेकर महिलाओं तक के लिए योजनाएं चल रही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने जन्मदिन के मौके पर 17 सितंबर को 'पीएम विश्वकर्मा योजना' की शुरुआत की थी।

जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी कीर्ति राठौड़ ने भी सभी विकास अधिकारियों को आदेश जारी किए। इसमें सभी ग्राम पंचायतों को पीएम विश्वकर्मा पोर्टल पर कॉमन सर्विस सेंटर माध्यम से ऑनबोर्डिंग कराने तथा योजना अंतर्गत 18 श्रेणी के आर्टीजन, क्राफ्ट्सपर्सन का पंजीयन कर पात्रता के अनुसार वेरिफिकेशन कार्यवाही कराने के निर्देश दिए हैं।

क्या है विश्वकर्मा योजना

जानकारी के अनुसार विश्वकर्मा योजना के तहत सुनार, लोहार, नाई और चर्मकार जैसे पारंपरिक कौशल रखने वाले कारीगरों को कई फायदे दिए जाएंगे। सरकार ने इस योजना में 18 पारंपरिक कौशल वाले व्यवसायों को शामिल किया गया है। इससे देश में मौजूद ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के कारीगरों और शिल्पकारों को सहायता मिलेगी।

अगर कोई अपना व्यापार शुरू करना चाहे, तो उसे इस योजना के तहत 3 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है। इस योजना के तहत बिना किसी गारंटी के लोन मिलेगा। लेकिन सरकार ने इसके लिए 18 ट्रेड्स से तय किए हैं, जिससे लाभार्थी का जुड़ा होना जरूरी है। यदि ऐसा है तो आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इधर स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक एवं विशिष्ठ सचिव ने प्रदेश के सभी नगर निकाय के आयुक्त-अधिशासी अधिकारियों को शहरी क्षेत्रों में आयोजित हो रहे शिविरों में इस योजना के ऑनलाइन आवेदन प्राप्त कर उन्हें स्वच्छ भारत मिशन शहरी 2.0 के आईडी-पासवर्ड के माध्यम से सत्यापित कर सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

जानिए कैसे कर सकते हैं आवेदन

अगर आप पात्र हैं और आपकी उम्र 18 साल या उससे अधिक है, तो आपको अपने नजदीकी जनसेवा केंद्र पर जाएं। यहां पर आपको संबंधित दस्तावेज देने हैं। इसके बाद सबकुछ सही पाए जाने पर आपका आवेदन कर दिया जाएगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal