Rajasthan Budget: उदयपुर एयरपोर्ट को फ्री ज़मीन, एलिवेटेड रोड और अन्य प्रावधान


Rajasthan Budget: उदयपुर एयरपोर्ट को फ्री ज़मीन, एलिवेटेड रोड और अन्य प्रावधान

जानिये क्या मिला उदयपुर को 

 
Rajasthan Budget
UT WhatsApp Channel Join Now

उदयपुर/जयपुर 10 जुलाई 2024 । राज्य विधानसभा में उपमुख्यमंत्री दिया कुमारी ने आज बजट पेश किया।  जिसमे उदयपुर ज़िले के लिए कई घोषणाए की गई है। मुख्यतः डबोक स्थित महाराणा प्रताप एयरपोर्ट को फ्री ज़मीन देने, वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र में एक पॉलीटेक्निक कॉलेज की घोषणा की गई। वहीँ नेहरू पार्क सौंदर्यीकरण के लिए 15 करोड़ का प्रावधान जबकि वीर बालिका कालीबाई संग्रहालय के लिए घोषणा की गई।   

वहीं पूरे राज्य की बात की जाए तो उपमुख्यमंत्री दिया कुमारी ने घोषणा की है कि प्रदेश की महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण के लिए शुरू की गई लखपति दीदी के अंतगर्त इस वर्ष के लिए निर्धारित लक्ष्य को 5 लाख से बढ़ाकर 15 लाख प्रस्तावित किया जाएगा। साथ ही पाक विस्थापितों को मकान के लिए 1 लाख रुपये देने का ऐलान किया। जिला स्तरों पर कामकाजी महिलाओं के लिए हॉस्टल की व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए 35 करोड़ रुपए खर्च करने का प्रावधान है। प्रदेश में पहली बार 2750 किमी से अधिक की लंबाई के 9 ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस वे का निर्माण किया जाएगा। 

प्रदेश के सभी सरकारी दफ्तरों को फेज मैनर में सोलर एनर्जी से जोड़ा जाएगा। साथ ही बिजली से वंचित रहे करीब 208000 घरों को अगले 2 साल में घरेलू बिजली कनेक्शन दिए जाएंगे।दिया कुमारी ने प्रदेश में 10 लाख से ज्यादा रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने की घोषणा की है। छात्रों के लिए नए इंटर्नशिप प्रोग्राम शुरू किए जाएंगे। 1.50 लाख से ज्यादा युवाओं को स्किल डेवलमेंट की ट्रेनिंग दी जाएगी।

फ्लाईओवर एवं एलिवेटेड रोड हेतु प्रावधान  

उदयपुर में पारस तिराहे पर फ्लाईओवर के लिए 36 करोड़ रूपये 
उदयपुर से देबारी एलिवेटेड रोड पर 125 करोड़ 
उदयपुर सिटी रेलवे स्टेशन से कलेक्टर निवास तक एलिवेटेड रोड डीपीआर के लिए 5 करोड़ 
बड़गांव से कविता नेशनल हाईवे 76 तक मास्टर प्लान विस्तारीकरण के कार्य हेतु 43 करोड़ रूपये 
जड़ाव नर्सरी से कलड़वास तिराहे तह सड़क विसतर के कार्य हेतु 38 करोड़ रूपये 
सीसारमा गांव से नांदेश्वर तक सड़क विस्तार एवं सुदृढ़ीकरण हेतु 14 करोड़ 
खेरवाड़ा के चारी जांजरी रोड पर दबायचा रोड पर 11 करोड़ 

टीएसपी क्षेत्र को जाखम का बरसाती पानी जयसमंद झील में लाने के लिए

उदयपुर लोकसभा सांसद डॉ. मन्नालाल रावत की पहल पर राज्य सरकार की ओर से टीएसपी क्षेत्र को 3 हजार 530 करोड़ रुपए की जाखम बांध आधारित पेयजल परियोजना की बड़ी सौगात दी गई है। बुधवार को राज्य विधानसभा में पेश बजट भाषण में उपमुख्यमंत्री दिया कुमारी ने इसकी घोषणा की। इस परियोजना का सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि अब जाखम बांध पूरा भरने के बाद उसका जो बरसाती पानी ओवरफ़्लो हो व्यर्थ बहकर गुजरात के रास्ते समंदर में चला जाता था। अब उस पानी को जयसमंद झील में ले जाया जाएगा। जाखम से जयसमंद तक पंहुचने वाले इस पानी का चित्तौड़गढ़, प्रतापगढ़, राजसमंद व उदयपुर जिले में पेयजल के लिए उपयोग में लिया जा सकेगा।

उल्लेखनीय है कि सांसद डॉ. मन्नालाल रावत ने इस पेयजल परियोजना को तैयार करा स्वीकृति दिलाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक रखी थी। लोकसभा चुनाव के लिए 26 अप्रैल को मतदान सम्पन्न होने के अगले ही दिन से उन्होंने प्रबुद्धजनों से इस बारे में चर्चा शुरू कर दी थी। मूलतः टीएसपी क्षेत्र के धरियावद क्षेत्र के निवासी सांसद डॉ. मन्नालाल रावत ने इस पीड़ा को बहुत अच्छे से महसूस किया था कि जयसमंद झील, जिसकी गहराई व भराव क्षमता काफी अधिक है। वर्षा काल बीत जाने के बावजूद खाली रह जाती है, जबकि जाखम बांध व माहीडेम भरने के बाद वहां का अतिरिक्त पानी ओवरफ़्लो होकर व्यर्थ बह कर समंदर में चला जाता है।
   

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal