राजस्थानी को राजभाषा बनाने के लिय सुखाडि़या समाधि पर लगेगी राजस्थानी जाजम

राजस्थानी को राजभाषा बनाने के लिय सुखाडि़या समाधि पर लगेगी राजस्थानी जाजम

 
congress contemplation camp making a case for rajasthani language

उदयपुर में हो रहे कॉग्रेस के चिन्तन शिविर में राजस्थानी भाषा की मांग प्रखरता से रखने के लिये प्रतिनिधियों को कहा गया है। नव संकल्प शिविर में युवाओं एवं रोजगाार के विषय पर कॉग्रेस के मंच से राजस्थानी को राजभाषा बनाने की बहुप्रतिक्षत मांग के लिये कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमति सोनिया गॉंधी सहित कई बड़ें नेताओं को पत्र लिखा गया है।

राजस्थान की 8 करोड़ जनता अपनी मायड़ भाषा राजस्थानी को राजभाषा बनाने के लिये लगातार मांग कर रही है। राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री स्व मोहनलाल सुखाडि़या की समाधि दुर्गा नर्सरी पर राजस्थानी जाजम का आयोजन राजस्थानी मोट्यार परिषद्, बजरंग सेना मेवाड़, युगधारा, राजस्थानी भाषा मान्यता संघर्ष समिति के संयुक्त तत्वाधान में रविवार 15 मई 2022 को किया जाएगा।

राजस्थानी जाजम में पदाधिकारी, साहित्य सृजक आदि राजस्थानी भाषा की संवैधानिक मान्यता एवं प्रदेश की राजभाषा के महत्व पर अपनी बात रखेंगे। मोट्यार परिषद के संभाग संयोजक डॉ जय सिंह जोधा ने बताया कि उक्त गोष्ठी में मोट्यार परिषद् के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ शिवदान सिंह जोलावास के साथ युगधारा अध्यक्ष अशोक मंथन, बजरंग सेना संस्थापक कमलेन्द्र सिंह कवि लेखक हिम्मत उज्जवल एवं अन्य पदाधिकारियों द्वारा उदयपुर में आयोजित क्रॉग्रेस के राष्ट्रीय चिन्तन शिविर में राजस्थानी भाषा की मान्यता हेतु विचार रखने हेतु पुरजोर कोशिश की जावेगी।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal