हिरणमगरी थाना पुलिस ने साइबर ठगी के शिकार लोगों को राशि लौटाकर मिसाल कायम की


हिरणमगरी थाना पुलिस ने साइबर ठगी के शिकार लोगों को राशि लौटाकर मिसाल कायम की 

3 लाख 44 हज़ार 775 रुपये की रिकवरी कर पीड़ितों को राहत दी

 
HIran Magri police station
UT WhatsApp Channel Join Now

उदयपुर 30 मार्च 2024 । शहर की हिरणमगरी थाना पुलिस ने साइबर ठगी का शिकार हुए लोगों को उनकी राशि लौटाकर मिसाल कायम की है। हिरणमगरी थाना पुलिस की साइबर एक्सपर्ट टीम ने 3 लाख 44 हज़ार 775 रुपये की रिकवरी कर पीड़ितों को राहत दी है। पुलिस ने कुल 8 पीड़ितों को उनकी राशि रिकवर करवाई है, जिनमे क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़वाने, फ्लाइट बुकिंग, यूपीआई, टेलीग्राम पर सस्ते प्रिंटिंग पेपर खरीदने और वाशिंग मशीन खराब होने से गूगल सर्च पर टोल फ्री नम्बर से हुई ठगी शामिल है। 

थानाधिकारी दर्शन सिंह ने बताया कि आजकल ऑनलाइन पेमेंट और किसी भी जरूरत के लिए सबसे पहले गूगल पर सर्च करने की लोगों की आदत की वजह से ज्यादत ठगी का शिकार हो रहे है। ऐसे में साइबर ठग भी एक्टिव है जो अगल अगल सर्विस के नाम पर गूगल पर विज्ञापन चलाते है और जब ग्राहक सर्च करता है तो सबसे पहले सजेशन में आते है।

ग्राहक भी ठगों द्वारा विज्ञापन में दर्शाए गए टोल फ्री नम्बर को कम्पनी या बैंक का सही नम्बर समझकर ठगी का शिकार हो जाता है। उन्होंने बताया कि साइबर ठगी की शिकायतें बढ़ने की वजह से साइबर एक्सपर्ट हेड कांस्टेबल महावीर सिंह और कांस्टेबल राजकुमार झाखड की एक टीम का गठन किया था जिन्होंने ठगी का शिकार हुए पीड़ितों की बैंक डिटेल्स और ट्रांजेक्शन सर्वर की मदद से पहले तो राशि फ्रीज करवाई और बाद में बैंक से पत्राचार कर राशि पुनः लौटाई है।

हिरणमगरी थाना पुलिस ने महावीर सिंह और राजकुमार झाखड की मदद से कुल 3 लाख 44 हज़ार 775 रुपये की राशि रिकवर कर पीड़ितों को दिलाने में सफलता हासिल की है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal