बाबूलाल कटारा के घर की पौने 4 घंटे तलाशी, 51 लाख से ज्यादा का कैश, लाखों के जेवर मिले


बाबूलाल कटारा के घर की पौने 4 घंटे तलाशी, 51 लाख से ज्यादा का कैश, लाखों के जेवर मिले

आरपीएससी पेपर लीक केस का आरोपी है बाबूलाल कटारा 

 
babulall katara
UT WhatsApp Channel Join Now

आरपीएससी पेपर लीक केस में आरपीएससी मेंबर बाबूलाल कटारा को रिमांड पर लिए जाने के बाद एसओजी गुरुवार को डूंगरपुर सुभाष नगर में उनके निवास पर लेकर आई। जहा पर एसओजी ने करीब पौने 4 घंटे तक परिवार के साथ पूछताछ की। घर में तलाशी के दौरान 51 लाख से ज्यादा का कैश और लाखो के जेवर मिलने की बात बताई जा रही है। वही बाबूलाल कटारा के घर से करोड़ो के संपत्ति के कागजात भी मिले है। हालाकि एसओजी के अधिकारियों की ओर से अब तक पुष्टि नहीं की गई है। 

आरपीएससी पेपर लीक केस में एसओजी की टीम गुरुवार शाम को आरपीएससी मेंबर बाबूलाल कटारा को लेकर डूंगरपुर पहुंची। शहर के सुभाषनगर स्थित बाबूलाल कटारा के घर आए। एसओजी की चार गाड़ियों में आए अफसर बाबूलाल कटारा समेत घर के अंदर चले गए। इसके बाद एसओजी की टीम उनके घर में अलमारियां समेत कई दस्तावेज खंगाले। वही इस दौरान घर के अंदर किसी को एंट्री नहीं दी गई। 

एसओजी की टीम ने करीब पौने 4 घंटे तक बाबूलाल कटारा और उनके परिवार के लोगो की मोजुदगी में जांच व पूछताछ की। सर्च में एसओजी को घर से 51 लाख 20 हजार रुपए कैश मिलने की बात सामने आई है। ये कैश पेपर लीक में मिले 60 लाख रुपए में से बची हुई राशि बताई जा रही है। वही बाकी की रकम कहा खर्च की इस बारे में भी एसओजी पड़ताल कर रही है। इसके अलावा घर से 541 ग्राम सोने के जेवरात भी मिले है। वही डूंगरपुर, उदयपुर समेत अलग अलग जगहों पर खरीदी गई करोड़ो की जमीन जायदाद के कागजात भी मिले है। लेकिन एसओजी की ओर से इसका कोई खुलासा नहीं किया है।  

रात करीब साढ़े 9 बजे बाद एसओजी के अधिकारी एक एक में 4 बस्ते लेकर बाहर आए और गाड़ियों में रखे। माना जा रहा है की इन बस्तों में कई महत्वपूर्ण कागजात है। इसमें बाबूलाल कटारा और उनके परिवार के संपत्ति कें डोक्यूमेंट ओर अन्य कागज हो सकते है। इसके बाद एसओजी की टीम ने बाबूलाल कटारा को घर से बाहर निकालकर सीधे गाड़ी में बैठाया और रवाना हो गए। एसओजी के अधिकारियों की ओर से भी उनके घर पर की गई कार्रवाई के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है।

बेटे और दोस्त को ले गए 24 घंटे से ज्यादा समय

एसओजी की टीम बाबूलाल कटारा के बेटे डॉ दीपेश और उसके दोस्त सरकारी शिक्षक गोतमलाल को लेकर गए 24 घंटे से ज्यादा का समय हो गया है। लेकिन दोनों को एसओजी कहा लेकर है इस बारे में अब तक एसओजी की ओर से खुलासा नहीं किया गया है। वही गुरुवार को घर की तलाशी के दौरान भी एसओजी बाबूलाल कटारा और उनके भानजे विजय डामोर को लेकर आई थी। बाबूलाल कटारा को घर में ले जाकर तलाशी ली। जबकि भानजे को बाहर कार में ही पोने 4 घंटे तक बैठाए रखा।

भानजे से सोने का कड़ा बरामद, आरोपी शेरसिंह ने दिया था

वही एसओजी की ओर से बाबूलाल कटारा के भानजे विजय डामोर के घर भी तलाशी लेने की बात सामने आई है। जिसमे पेपर लीक के आरोपी शेरसिंह मीणा की ओर से दिया गया सोने का कड़ा भी एसओजी ने बरामद किया है।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal