सलूंबर-करंट की चपेट में आये एक ही परिवार के चार लोगो को मौत


सलूंबर-करंट की चपेट में आये एक ही परिवार के चार लोगो को मौत 

लसाडिया की ग्राम पंचायत ढिकीया के बोड फला की घटना 

 
death by current
UT WhatsApp Channel Join Now

सलूंबर जिले में लसाडिया की ग्राम पंचायत ढिकीया के बोड फला में शॉर्ट सर्किट से वृद्ध दंपती और बेटा-बेटी की मौत हो गई। शॉर्ट सर्किट से मकान में करंट दौड़ गया। सबसे पहले 68 वर्षीय उंकार पुत्र गांगा मीणा करंट की चपेट में आ गए। उंकार को बचाने के लिए उनकी पत्नी भमरी मीणा, पुत्र देवीलाल और पुत्री मांगी दौड़ कर पहुंचे। करंट की चपेट में आने से चारों लोगों की मौके पर मौत हो गई।

देवीलाल की पत्नी ने अपनी डेढ़ साल की बच्ची को संभाला और दरवाजे से दूर हट गई। इसके बाद उसने चिल्लाकर आसपास के लोगों को बुलाया। इसके बाद आसपास के ग्रामीण और ढिकिया सरपंच पूनम चंद मीणा मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने बिजली विभाग में फोन करके बिजली सप्लाई बंद करवाई और पुलिस को सूचना दी।

घटना में उंकार मीणा (68), उनकी पत्नी भमरी, पुत्र देवीलाल (25)और पुत्री मांगी (22) की मौत हो गई। घटना की सूचना पर कूण थानाधिकारी प्रवीण सिंह शक्तावत मय जाप्ता मौके पर पहुंचे। फिर शव को लसाड़िया के सरकारी हॉस्पिटल में रखवाया। जहां चारों शवों का पोस्टमार्टम होगा। घटना के बाद सलूम्बर जिला कलेक्टर प्रताप सिंह और सलूम्बर डिप्टी डूंगर सिंह सरकारी हॉस्पिटल पहुंचे और घटना की जानकारी ली।

इधर, झाड़ोल में एक दिन पहले करंट से वृद्ध दंपती की हुई थी

झाडोल थाना क्षेत्र के बेरणा गांव में गुरुवार को खेत पर काम कर रहे वृद्ध दंपती की करंट लगने से मौत हो गई थी। बेरणा निवासी वक्ताराम अपनी पत्नी रूपली बाई के साथ अपने खेत में पानी देने का काम कर रहे थे। तभी खेत के ऊपर से गुजर रही 11केवी के बिजली लाइन के लटके हुए तार छू जाने से करंट लग गया। पति और पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है कि दंपती में से पहले एक जने को करंट लगा था। फिर उसे छुड़ाने की कोशिश में दूसरे को भी करंट लग गया। ग्रामीणों का कहना है कि खेतों से गुजर रही बिजली की लाइन के तार कई दिनों से बहुत नीचे तक लटके हुए हैं। खतरे की संभावना को देखते हुए बिजली विभाग को कई बार अवगत करा चुके हैं लेकिन विभाग ने इस पर ध्यान नहीं दिया।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal