सलूंबर - 11 अक्टूबर 2023 की प्रमुख खबरे

सलूंबर - 11 अक्टूबर 2023 की प्रमुख खबरे 

ज़िले से संबंधित खबरे पढ़े उदयपुर टाइम्स पर

 
salumber

शुद्ध के लिए युद्ध 

सलूंबर, 11 अक्टूबर ।  शहर में शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत मोबाइल फूड टेस्टिंग लैब से शहर में कुल 22 जगह सैंपल लिए। एक जगह मिर्ची खराब मिली, जिसे नोडल ऑफिसर जगदीश सेन की निगरानी में डिस्ट्रॉय किया।

इसी तरह पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों के अनुसार लेब प्रतिदिन फील्ड में घुमती है। इसमें खाने-पीने, मिर्च- मसाले, मिठाई, घी, तेल आदि की जांच निशुल्क की जाती है। मोबाइल फूड लैब में मोतीलाल मेघवाल, भवानी शंकर राव और अमीन खान ने अपनी सेवाएं दी। सलूंबर में पिछले वर्ष विभाग की सैंपलिंग की कार्रवाई में ढिलाई बरतने के चलते मिलावटखोरों को बढ़ावा मिला था। जिसके चलते जिले में जमकर घी, दूध, दही, नमकीन में मिलावट हुई थी।

मोबाइल फूड टेस्टिंग लैब की टीम ने बस स्टैंड पर होटलों से मावे की बर्फी, जलेबी का नमूना लेकर जांच की व अच्छे मटेरियल इस्तेमाल करने की हिदायत दी। नोडल फूड ऑफिसर जगदीश सेन ने बताया कि जिले में मिलावटखोरों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। किसी भी आमजन को मिलावट की जानकारी मिले तो वह तुरंत जिला प्रशासन को दे। नाम गुप्त रखते हुए प्रमुखता से कार्रवाई की जाएगी।

जयसमंद मार्ग पर अनियंत्रित ट्रेलर पलटा, चालक और खलासी घायल

उदयपुर- जयसमंद स्टेट मेगा हाईवे पर मंगलवार तड़के पत्थरों से भरा एक ट्रेलर अनियंत्रित होकर पलट गया। हादसे में चालक व खलासी घायल हो गए। जानकारी के अनुसार सलूंबर क्षेत्र से पत्थर भरकर उदयपुर जा रहा ट्रेलर तड़के करीब 3 बजे महूड़ी मोड़ में अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पलट गया ।

हादसे में घायल चालक व खलासी को राहगीरों ने निजी वाहन से उदयपुर अस्पताल पहुंचाया। गनीमत रही की हादसे के दौरान मार्ग पर किसी प्रकार के वाहनों का आवागमन नहीं होने से बड़ी जनहानि  नहीं हुई । हालांकि हादसे को लेकर किसी प्रकार की रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई है । 

News-सखियो की बाड़ी से हो रहा जनजाति बालिकाओं के जीवन में उजियारा

दुनियाभर में बालिकाओं की हिस्सेदारी बढ़ाने, उनके सेहतमंद जीवन से लेकर शिक्षा और करियर तक के विभिन्न मुद्दों पर जागरूकता लाने के उद्देश्य से हर साल 11 अक्टूबर को अंतराष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है l दक्षिण राजस्थान विशेषकर जनजाति अंचल में बालिकाओं के अधिकारों के संरक्षण हेतु सबसे प्राथमिक आवश्यकता शिक्षा की है। आज भी दूर-दराज बिखरी आबादी में विद्यालय की उपलब्धता न होने पर या निकटम विद्यालय की घर से दूरी ज्यादा होने पर बालिकाएं शिक्षा की मुख्य धारा से नही जूड पाती। बालिकाएं घर के कार्य या अपने छोटे भाई-बहनों का ध्यान रखने से लेकर बकरियां चराने तक के कार्यों में अधिक मात्रा में व्यस्त रहती है।

समाज की इस महत्वपूर्ण कड़ी को शिक्षा से जोड़ने की दिशा में आई.आई.एफ.एल फाउंडेशन की पहल से संचालित सखियो की बाड़ी नवाचार निश्चित ही मील का पत्थर साबित हुआ है । उक्त विचार राजस्थान बाल आयोग, राजस्थान सरकार के पूर्व सदस्य एव बाल अधिकार विशेषज्ञ डॉ. शैलेन्द्र पण्डया ने अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस की पूर्व संध्या पर जिले के सलूंबर, जयसमंद क्षेत्र में आई.आई.एफ.एल फाउंडेशन एवम् गायत्री सेवा संस्थान द्वारा संचालित निःशुल्क शिक्षा केंद्र सखियो की बाड़ी की विजिट के पश्चात व्यक्त किए l

इस अवसर पर संखियो की बाड़ी कार्यक्रम की सहायक समन्वयक निकिता शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया की आई .आई.एफ.एल फाउंडेशन व गायत्री सेवा संस्थान उदयपुर द्वारा दक्षिण राजस्थान के सलूंबर पंचायत में 45, सराडा में 50, लसाडिया में 49, गिर्वा में 04 व प्रतापगढ़ जिले में 100 केन्द्र इस प्रकार कुल 248 सखियो की बाड़ी का संचालन किया जा रहा है, जहा प्रतिदिन 7447 बालिकाएं निशुल्क शिक्षा प्राप्त कर रही है l शर्मा ने बताया की आई.आई. एफ.एल फाउंडेशन की निदेशक मधु जैन जनजाति अंचल की बालिकाओं को शत प्रतिशत शिक्षा से जोड़ने हेतु इस दिशा में प्रसारत है l इस प्रकार की महिलाएं समाज के लिए बालिका दिवस पर प्रेरणा स्त्रोत हैं l

डॉ. पण्ड्या, जो बालिकाएँ कभी विद्यालय नहीं गई उनके द्वारा इस केंद्र पर आकर फ़र्राटेदार अंग्रजी में कविता बोलता देख काफ़ी प्रभावित हुए l


गायत्री सेवा संस्थान के प्रतिनिधि नितिन पालीवाल ने जानकारी देते हुए बताया की कल 11 अक्टूबर से 16 अक्तूबर तक जनजाति अंचल में बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने एवम् बाल विवाह के ख़िलाफ़ विशेष अभियान “बाल विवाह मुक्त-भारत” संचालित होगा l जिसके तहत 150 से ज़्यादा जनजाति गाँवो में इस विषय पर यात्रा एवम् जन-जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएँगे l
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal