समायोजन एवं तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण की मांग को लेकर प्रदर्शन

समायोजन एवं तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण की मांग को लेकर प्रदर्शन

नये शिक्षकों की पोस्टिंग से पूर्व प्रदेश के 24 हजार अधिशेष शिक्षकों का समायोजन किया जाए

 
teacher protest
राजस्थान शिक्षक एवं पंचायती राज कर्मचारी संघ ने सरकार को भेजो 5 सूत्रीय मांगपत्र

उदयपुर 20 सितंबर 2023 । नये शिक्षकों की पोस्टिंग से पूर्व कर्मोन्नत स्कूलों व महात्मा गांधी विद्यालयों के 24 हजार से अधिक अधिशेष हुए शिक्षकों के समायोजन एवं तृतीय श्रेणी शिक्षकों के स्थानांतरण की मांग को लेकर राजस्थान शिक्षक एवं पंचायती राज कर्मचारी संघ ने प्रदेशव्यापी आंदोलन की शुरुआत करते हुए  शिक्षकों ने काले कपड़े पहनकर प्रदेश के उपखंड मुख्यालयों पर प्रदर्शन कर सरकार को पांच सूत्री मांग पत्र भेजकर शिक्षक समस्याओं के निराकरण की मांग की। 

संगठन के प्रदेश अध्यक्ष शेर सिंह चौहान ने कहा कि शिक्षा विभाग में विगत दो वर्ष में उच्च प्राथमिक से उच्च माध्यमिक में विधालय क्रमोन्नत कर दिए, हिन्दी माध्यम के विघालयों को महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम के रूप में परिवर्तित किया गया और टीएसपी से नॉन टीएसपी क्षेत्र में1903 तृतीय श्रेणी शिक्षकों का समायोजन करने से प्रदेश के इन विद्यालयों में लगभग  24 हजार शिक्षक अधिशेष हो गए है, अब 20 सितम्बर से नई शिक्षक भर्ती की काउसलिंग शुरु होने जा रही है ऐसे में वर्षों से दूरदराज के विद्यालयों में अपनी सेवाएं दे रहे इन अधिशेष शिक्षको के नई शिक्षक भर्ती से पूर्व समायोजन नहीं किया तो इन हजारों शिक्षकों का वेतन अटक जाएगा और इनको इच्छित स्थान पर पोस्टिंग भी नहीं मिल पाएगी। 

संघ से जुड़े शिक्षकों ने सोमवार को काले कपड़े पहनकर बडगांव उपखंड़ कार्यालय के बाहर ब्लांक अध्यक्ष प्रेम सिंह भाटी के नेतृत्व में प्रदर्शन करने के बाद उपखंड अधिकारी को मुंख्यमंत्री के नाम पांच सूत्रीय पांच पत्र सौपा। 

संगठन के  जिला मंत्री कमलेश कुमार शर्मा ने बताया कि संघ के प्रदेश अध्यक्ष शेर सिंह चौहान व प्रदेश महामंत्री राजेश शर्मा के संयुक्त हस्ताक्षर युक्त सरकार को भेजे 5 सूत्रीय मांगपत्र में लिखा है कि प्रदेश के कर्मोन्नत उच्च माध्यमिक विद्यालयों तथा रूपांतरित महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम के विद्यालयों में 24 हजार से अधिक शिक्षक कार्मिक अधिशेष चल रहे हैं। अकेले उदयपुर जिले में लगभग 1600 अधिशेष शिक्षक है जो लम्बे समय से समायोजन का इन्तजार कर रहे है , नये शिक्षकों को पोस्टिंग दे दी जाती है तो इन शिक्षकों का वेतन भुगतान अटक जाएगा और दूर दराज जाना पड़ेगा।लिहाजा नये शिक्षकों की पोस्टिंग से पूर्व इन शिक्षकों की काउंसलिंग आयोजित कराकर उनका प्रारंभिक व माध्यमिक शिक्षा के स्कूलों में समायोजन कराने,आचार संहिता लगने से पूर्व तृतीय श्रेणी शिक्षकों के तबादलों से प्रतिबंध हटाकर स्थानांतरण शुरू करने तथा महात्मा गांधी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम की परीक्षा पास कर चुके15 हजार शिक्षकों का पदस्थापन कराये जाने ,शिक्षा विभाग में तीन सालों से वरिष्ठ अध्यापक व व्याख्याता संवर्ग की रुकी हुई डीपीसी प्रारंभ कराने एवं न्यायालय प्रकरणों का निस्तारण होने तक तदर्थ पदोन्नतियां दिए जाने,टीएसपी से नॉन टीएसपी में 1903 शिक्षकों सहित समायोजन से वंचित शिक्षकों का उनके गृह जिलों में समायोजन कराने तथा नई शिक्षक भर्ती में विधवा, परित्यक्ता ,दिव्यांग, गंभीर बीमारी से ग्रसित व पति पत्नी राजकीय सेवा में होने वाले अभ्यर्थियों के प्रति मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए उनके गृह जिलों में ही पोस्टिंग दिलाए जाने का आग्रह किया है।

सरकार ने समय रहते समस्याओं का निराकरण नहीं किया तो विधानसभा चुनाव में सहना पड़ सकता है शिक्षकों का आक्रोश

ज्ञापन से पूर्व प्रदर्शन के दौरान संघ के प्रदेश अध्यक्ष शेर सिंह चौहान सहित सभी वक्ताओं ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि बीते सालों में शिक्षा विभाग में कोई भी शिक्षकों के कार्य सुचारू ढंग से नहीं किये जा रहे हैं ।समय पर पदोन्नतियां नहीं होने से स्कूलों में विषय अध्यापकों एवं व्याख्याताओं के बड़ी संख्या में रिक्त पद होने से छात्रों की पढ़ाई बाधित हो रही है। यही  नहीं शिक्षकों को समय पर पदोन्नति का लाभ नहीं मिल रहा है। प्रदेश अध्यक्ष  चौहान ने कहा कि सरकार के पूरे कार्यकाल में तृतीय श्रेणी शिक्षकों के एक बार भी तबादले नहीं किए गए। तबादला नीति बनाने को लागू करने की लेकर बयान बाजी होती रही और आज तक नीति  बनाने और लागू करने के नाम पर तृतीय श्रेणी शिक्षकों के साथ छलावा किया गया।

ऐसे में प्रदेश के शिक्षक संवर्ग में शिक्षा विभाग की कार्य प्रणाली को लेकर बेहद आक्रोश पनप रहा है। यदि सरकार ने शिक्षकों की समस्याओं का निराकरण नहीं किया तो आगामी विधानसभा चुनावों में इसका खामियाजा उठाना पड़ सकता है। 

प्रदर्शन के दौरान आज राजस्थान पंचायती राज शिक्षक एवं कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष शेर सिंह  चौहान साहब के नेतृत्व में उपखण्ड कार्यालय बड़गांव पर पांच सूत्री मांगों को लेकर शानदार प्रदर्शन करते हुए उपखंड अधिकारी रमेश  बहेडिया को मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री महोदय के नाम ज्ञापन सौंपा गया।

ज्ञापन देते समय जिला अध्यक्ष सतीश जैन, जिला महामंत्री कमलेश शर्मा,  प्रेम सिंह भाटी, सचिव अशोक मीणा, कृष्णकांत लखारा, ओम प्रकाश बिश्नोई, लखन शर्मा, लोकेश भट्ट, प्रताप सिंह राजपूत, जय सिंह राठौड़, आकाश पाल सिंह राठौड़, भागीरथी विश्नोई, नरेंद्र बिश्नोई, भानु प्रताप सिंह, सुरेश बदरा, प्रियंका राणावत, आभा जोशी, सीमा पवार, सीता शर्मा, मीना सैनी, रघुनाथ सिंह चुंड़ावत, रणबीर सिंह राणावत, निर्भय सिंह, ललित, हितेंद्र दवे आदि शिक्षक उपस्थित थे। 
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal