बालकों के हित में शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त कराने के लिए शिक्षक संघ उतरा संघर्ष की राह पर

बालकों के हित में शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त कराने के लिए शिक्षक संघ उतरा संघर्ष की राह पर

संघ ने किया संयुक्त निदेशक कार्यालय के बाहर प्रदर्शन

 
shikshak sangh

उदयपुर 10 अक्टूबर 2022 । विभिन्न कार्यालय में लंबे समय से शिक्षकों द्वारा की जा रही बाबू गिरी के विरोध में राजस्थान शिक्षक एवं पंचायती राज कर्मचारी संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष शेर सिंह चौहान के नेतृत्व में शिक्षकों ने संयुक्त निदेशक, स्कूल शिक्षा कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करते हुए संयुक्त निदेशक को ज्ञापन सौंपा। 

ज्ञापन में विभिन्न शिक्षकों द्वारा लंबे समय से शिक्षा विभाग व अन्य विभागों के कार्यालयों में शिक्षक अध्यापन कार्य की जगह बाबू गिरी कर रहे शिक्षकों को उनके विद्यालयों के लिए कार्यमुक्त कर अतिरिक्त मुख्य सचिव शिक्षा के नए दिशा निर्देश की पालना कराने की मांग की है। 

चौहान ने बताया कि एक तरफ कई विद्यालयों में शिक्षकों की भारी कमी के कारण बालकों का अध्यापन कार्य बाधित हो रहा है साथ ही राज्य सरकार के राजस्थान के शिक्षा में बढ़ते कदम जैसी महत्वपूर्ण योजना चला रही है परंतु कुछ शिक्षा विभाग के अधिकारी प्रशासनिक अधिकारी एवं स्वार्थी शिक्षक इस योजना का बेड़ा गर्क करने में लगे हुए हैं। 

ज्ञापन में मांग की हैं कि जो शिक्षक अध्यापन कार्य नहीं कराना चाहता है तो उनसे विकल्प पत्र मांग कर उन्हें बाबू की ग्रेड में शामिल करते हुए बाबू के पद पर समायोजित कर देना चाहिए और उनके स्थान पर युवा प्रशिक्षित बेरोजगारों को शिक्षक के रूप में भर्ती करनी चाहिए। 

प्रदर्शन में नवीन व्यास, सतीश जैन, भैरूलाल कलाल, चन्द्रशेखर परमार, कमलेश शर्मा, ईश्वर सिंह राठौड़, धनेश्वरी वैष्णव, प्रेम बैरवा, साधना पांडे, देवी सिंह सारंगदेवोत, हितेन्द्र दवे ,सुरेश खंड़ारिया, गरिमा अग्रवाल, रईस खान, सुनील माखीजा, उमाकांतआमेटा, गहरीलाल मेघवाल आदि उपस्थित थे

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal