अमराई घाट पर शुल्क को लेकर फोटोग्राफरो की जन आक्रोश रैली


अमराई घाट पर शुल्क को लेकर फोटोग्राफरो की जन आक्रोश रैली  

उदयपुर फोटोग्राफर एसोसिएशन ने जन आक्रोश रैली निकालकर कर दर्ज किया विरोध

 
photographers association
UT WhatsApp Channel Join Now

मांगे पूरी न करने पर परिवार सहित करेंगे अनशन 

उदयपुर के पिछोला झील के किनारे स्थित अमराई घाट (मांजी घाट) पर देवस्थान की ओर से लिए जा रहे शुल्क को लेकर द उदयपुर पोस्ट प्रोडक्शन वेलफेयर प्रोफेशनल फोटोग्राफर एसोसिएशन ने जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। 

 द उदयपुर पोस्ट प्रोडक्शन वेलफेयर प्रोफेशनल फोटोग्राफर एसोसिएशन ने आरोप लगाया की उनके व्यवसाय से देवस्थान विभाग अन्य विभागों द्वारा खिलवाड़ किया जा रहा है। उस पर अंकुश लगाकर  राहत प्रदान करें। जिला कलेक्टर से अनुरोध किया कि 2 वर्ष से उनके हमारे व्यवसाय पर संकट के मद्देनज़र उस पर अंकुश लगाकर राहत प्रदान करें।

उन्होंने आरोप लगाया की मांजी का घाट अमराई छोर अभी विवादों में है और उसका मामला कोर्ट में है उसके बाद भी सरकार का कोई आदेश ना होने के बावजूद देवस्थान विभाग अपनी मनमानी कर इस तरीके से दर्शनार्थी से भी चार्ज वसूला जा रहा हैं वह कहां तक सही है और प्राकृतिक सौंदर्यकरण को देखने के लिए और वह फोटोग्राफी करने के लिए पहुंचते हैं तो 5000 रूपये का शुल्क लिया जाता है। 

यह मांगे की जाए पूरी

  • अमराई घाट मांजी का मंदिर जिसके अंदर प्रवेश हेतु जो शुल्क लिया जा रहा है उसको निरस्त किया जावे।
  • अमराई घाट के अंदर फोटोग्राफी वीडियोग्राफी पर देवस्थान विभाग द्वारा चार्ज लगाए गए हैं उसको निरस्त किया जावे।
  • अमराई घाट मांजी का मंदिर यथावत स्थिति में रखा जाए जिससे उदयपुर की जनता जाएं एवं उस सुंदरीकरण को देश विदेश में फोटोग्राफरों के माध्यम से और अधिक पहचान दी जाए।
  • अमराई घाट को पहचान देने वाला एकमात्र फोटोग्राफर हैं जिसने आज देश-विदेश में इसके सुंदरीकरण और प्राकृतिक सुंदरता को दर्शाया हैं उसको लेकर फोटोग्राफरों को विशेष दर्जा दिया जाए।
  • पुरोहितों का तालाब पर जो शुल्क लगाए गए हैं उनको वापसी लेकर यथावत जो शुल्क हैं उनको यथा स्थिति में रखा जाए।
  • उदयपुर के अंदर आने वाले आकर्षित केंद्र जहां पर फोटोग्राफर अपना व्यवसाय करें उसके लिए उसको विशेष छूट दी जाए जिससे वह अपने उदयपुर की पहचान को देश विदेश तक पहुंचा सके।
  • उदयपुर शहर के अन्य क्षेत्र पर कोई भी विभाग अगर किसी भी प्रकार का निर्णय लेते हैं फोटोग्राफी से संबंधित तो उसमें फोटोग्राफर एसोसिएशन को सम्मिलित कर उस पर निर्णय लिया जावे जिससे हम फोटोग्राफरों के हित के बारे में आपको अवगत करा सकें।
  • उदयपुर शहर के अंदर गणगौर घाट क्षेत्र पर भी विशेष विभाग द्वारा जो शुल्क लिया जा रहा है उसको निरस्त किया जावे हम महोदय और सरकार से यही आशा करते हैं की वह हमारे दर्द को समझे एवं हमारे व्यवसाय और परिवार के साथ जो खिलवाड़ किया जा रहा हैं उससे हमको न्याय दिलाया जाए।
  • देवस्थान विभाग द्वारा खंडित मंदिर की ओर अनदेखा करना जिसको फोटोग्राफर भाइयों ने रंग रोगन कराकर उसकी सुंदरता को निखारा आज उन्हीं भाइयों के साथ उनके व्यवसाय के साथ खिलवाड़ किया जा रहा हैं इसको फोटोग्राफी एसोसिएशन कभी भी सहन नहीं करेगी।
  • फोटोग्राफर की कला से आज देश से पर्यटक को बढ़ावा मिलता है और उदयपुर वासियों को रोजगार उपलब्ध होता है उसके ऊपर इस तरीके से चार्ज लगाने से पर्यटक भी बाहरी क्षेत्रों में प्रवेश करने लगा हैं।
  • यहां की सुंदरता को दिखाकर सबसे ज्यादा डेस्टिनेशन वेडिंग को बढ़ावा फोटोग्राफर की देन है जो वह अपने कला का प्रदर्शन कर सभी की सुंदरता को बढ़ाता है जिससे देश के कई कोने से आज उदयपुर के अंदर वेडिंग डेस्टिनेशन और प्री वेडिंग के लिए बाहर से लोगों का आवागमन है।

द उदयपुर पोस्ट प्रोडक्शन वेलफेयर प्रोफेशनल फोटोग्राफर एसोसिएशन ने अनुरोध किया कि जितने भी केंद्र है उन केंद्र पर यथास्थिति रखी जाए और किसी प्रकार का कोई शुल्क ना लिया जाए। अगर इस ज्ञापन के बाद भी उनकी सुनवाई नहीं होती है तो आने वाली 17 तारीख को परिवारजनो सहित धरना प्रदर्शन कर अनशन किया जाएगा।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal