उदयपुर को अतिक्रमण मुक्त बनाएगी नगर निगम

उदयपुर को अतिक्रमण मुक्त बनाएगी नगर निगम

रेलवे स्टेशन के सामने कार्यवाही को लेकर हुई चर्चा

 
UMC

उदयपुर शहर को अतिक्रमण मुक्त बनाने के उद्देश्य से आयोजित की गई नगर निगम अतिक्रमण निरोधक समिति की बैठक समिति अध्यक्ष छोगालाल भोई की अध्यक्षता में आयोजित की गई, इस दौरान नगर समिति सदस्य के साथ अतिक्रमण निरोधक शाखा के अधिकारी एवं कर्मचारी भी उपस्थित रहे। 

नगर निगम अतिक्रमण निरोधक समिति अध्यक्ष छोगालाल भोई ने बताया कि नगर निगम अतिक्रमण निरोधक समिति की महत्वपूर्ण बैठक नगर निगम कार्यालय में बुधवार को आयोजित की गई। बैठक में समिति सदस्यों द्वारा शहर में ठेला संचालकों द्वारा लगातार बढ़ रहे अतिक्रमण को लेकर गहरी चिंता व्यक्त की ओर हो रहे अतिक्रमण से शहर को कैसे मुक्त रखा जाए इस बारे में गहन विचार विमर्श किया गया। 

रेलवे स्टेशन के सामने कार्यवाही को लेकर हुई चर्चा

समिति अध्यक्ष छोगालाल भोई द्वारा सभी का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि उदयपुर शहर का प्रमुख प्रवेश द्वार रेलवे स्टेशन है।उदयपुर शहर विश्व में पर्यटकों के लिए सबसे पसंदीदा शहर है। पर्यटन रेल एवं वायु मार्ग द्वारा अपनी यात्रा संपादित करते हैं। शहर के रेलवे स्टेशन के सामने कई समय से अतिक्रमियों द्वारा सड़क पर पुराने कबाड़ के समान की दुकानें लगा कर मार्ग को सकड़ा किया गया है जिससे आमजन को आवागमन में समस्या हो रही है। निगम द्वारा पूर्व में 6 अतिक्रमी को नोटिस देकर अपना अतिक्रमण हटाने हेतु कहा गया था लेकिन आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। 

निगम द्वारा पूर्व में हटाए गए अतिक्रमण पर तोप माता मंदिर के पास जहा मिट्टी हटाई गई थी वहा जल्द ही पक्की रोड का निर्माण करवाया जाए, जिसके संबंध में भोई ने निगम एससी मुकेश पुजारी से भी फोन पर बात की। रेलवे स्टेशन के सामने 90 डिग्री का घुमाव है। इसी घुमाव के पास ही कबाड़ डाल कर रोड को सकडा कर दिया जाता है। ढलान से आने वाले वाहन की गति तेज होने के कारण आए दिन यहां पर दुर्घटनाएं घटित होती है, यह घटनाए तब और बढ़ जाती हैं जब रेल यात्री स्टेशन से शहर की तरफ जाते हैं। आने वाले पर्यटक शहर में प्रवेश करते ही एक नकारात्मक तस्वीर लेकर शहर में प्रवेश करते हैं अतः इस कारण यहा की व्यवस्था को जल्द सुधारा जाए 

पूर्व में कार्यवाही के दौरान कर्मचारियों के नहीं भेजने पर मांगी जानकारी

बैठक में समिति अध्यक्ष छोगालाल भोई ने कहा की महा फरवरी में अतिक्रमण समिति सदस्यों एवं अधिकारियों द्वारा रेलवे स्टेशन के सामने सड़क पर अस्थाई अतिक्रमण हटाने को लेकर कार्यवाही प्रारंभ की गई थी जिसमें आयुक्त द्वारा नगर निगम से कर्मचारी उपलब्ध करवाने का पत्र जारी किया गया था, फिर भी कार्रवाई के दौरान निगम के कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचे जिससे आवश्यक कार्रवाई पूरी तरह संपादित नहीं हो सकी। इस पर सभी समिति सदस्यों ने रोष प्रकट करते हुए इस पर जानकारी मांगी गई।

बैठक में समिति सदस्य रेखा ऊंटवाल ने कलक्टर बंगलो के पास लगातार बढ़ रहे ठेले को लेकर भी रोष प्रकट किया, उन्होंने कहा कि लाइसेंस शुदा ठेला संचालकों को छोड़कर अन्य सभी ठेला संचालकों को तुरंत प्रभाव से हटाया जाए, वहा आए दिन दुर्घटना घटित हो रही है। बैठक में समिति सदस्य कुलदीप जोशी द्वारा गुलाब बाग टैक्सी स्टैंड से दूध तलाई मार्ग तक किए गए अस्थाई ठेलो को अन्य स्थान पर स्थानांतरित करने का प्रस्ताव दिया गया जिस पर जिला परियोजना अधिकारी को स्ट्रीट वेंडर पॉलिसी अंतर्गत नियमानुसार कार्यवाही करने हेतु कहा गया है।

समिति अध्यक्ष छोगालाल भाई ने कहा की कोर्ट के सामने नगर निगम द्वारा अतिक्रमण को हटाया गया एवं वहां सड़क का निर्माण कर दिया गया है जो वर्तमान में किसी के उपयोग में नही आ रही है और न ही वहा से वाहनों का आवागमन हो रहा है जिससे आमजनता को हटाए अतिक्रमण से कोई फायदा नहीं हो रहा है इसलिए सड़क की पुनः तकनीकी जांच करवाकर सड़क को चौड़ा किया जाए जिससे उस स्थान को केवल पार्किंग के उपयोग हेतु नहीं लिया जा सके।

समिति सदस्य वेणीराम सालवी ने बताया कि माझी की सराय के बाहर गन्ने के रस वालों ने ठेले लगा रखा है जबकि वहां पर यात्रियों के बैठने को लेकर भी समुचित व्यवस्था नहीं है। अतः वहां पर लगाए ठेले को व्यवस्थित करवा कर यात्रियों के बैठने हेतु नगर निगम द्वारा बेंच लगाई जाए।

समिति द्वारा पूरे शहर में ठेले द्वारा किए गए अतिक्रमण को व्यवस्थित करने हेतु शहर में वेंडिंग और नो वेंडिंग जोन का निर्धारण करवाकर ठेलो को व्यवस्थित करवाया जाए। 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal