पुलिस की जीप दौड़ाती मूली कुमारी

पुलिस की जीप दौड़ाती मूली कुमारी

उदयपुर टाइम्स से खास मुलाकात 

 
mooli kumari

उदयपुर 25 जनवरी 2023। पुलिस विभाग की एक महिला पुलिस कांस्टेबल मूली कुमारी सिंवर इन दिनों शहर में चर्चाओं का विषय बनी हुई है। राजस्थान के नागौर जिले के एक किसान परिवार की बेटी 23 वर्षीय मूली कुमारी डीलडौल से तो बड़ी ही सामान्य दिखाई देती है लेकिन वह उदयपुर के सवीना थाने में इन दिनों एक जिम्मेदारी का काम कर रही है।

दरअसल 2021 में विभाग को ज्वाइन करने वाली मूली कुमारी थाने की पीसीआर जीप चलाती है। कुमारी ने उदयपुर टाइम्स की टीम से बात करते हुए बताया कि उन्होंने अपनी जोइनिंग से पहले 12 महीने की ट्रेनिंग की है, जिसमें पहले 6 महीने सामान्य ट्रेनिंग कराई गई और अगले 6 महीने तक उन्हें ड्राइविंग के लिए विशेष रूप से ट्रेन किया गया।

मूली कुमारी ने बताया कि विभाग द्वारा पूरे प्रदेश में कुल 18 महिला कॉन्स्टेबल को पीसीआर जीप चलाने के लिए विशेष रुप से ट्रेनिंग दी गई है,जिसमें से उदयपुर जिले के 6 थानों में तैनात होकर अपनी सेवाएं दे रही है, उनका कहना है कि उदयपुर में यह संख्या पूरे प्रदेश में सबसे अधिक है।

कुमारी ने बताया है कि वह एक किसान परिवार से आती है और बचपन से ही उनके किसी काम को करने से रोका नहीं गया विशेष रूप से उनके पिता ने उनकी हर काम को करने में हौसला अफजाई की है, अपने स्कूल समय से ही वह घर पर मौजूद दो पहिया वाहन, ट्रैक्टर आदि चलाती आई है, लेकिन थाने की जीप चलाना उनके लिए एक अलग ही अनुभव है और एक जिम्मेदारी की नौकरी है।

उन्होंने कहा कि शुरुआत में तो अपने पुरुष साथियों के साथ जीप में बैठकर जाने में उन्हें झिझक होती थी लेकिन अब उन्हें परिवार जैसा लगने लगा है और सभी उनको प्रोत्साहित करते हैं।

आपको बता दें कि मूली कुमारी भले ही एक महिला कॉन्स्टेबल है लेकिन अगर बात थाने की पीसीआर जीप चलाने की की जाए तो वह किसी भी पुरुष कॉन्स्टेबल से किसी भी रुप से पीछे नहीं है। उनका कहना है कि समाज में भी उन्हें खासी तवज्जो दी जाती है और वह विभाग के इस कदम से काफी खुश हैं और उनका मानना है कि उन्हें इस तरह से जीप चलाते हुए देखकर आने वाले वक्त में जो बच्चियां विभाग आना चाहती हैं वह उनके लिए एक अच्छा उदाहरण बन पाएंगे।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  WhatsApp |  Telegram |  Signal

From around the web