मिक्स मीडिया के साथ पेंटिंग को नया आयाम दे रही है निमिषा डूंगरवाल…


मिक्स मीडिया के साथ पेंटिंग को नया आयाम दे रही है निमिषा डूंगरवाल…

निमिषा डूंगरवाल अपनी कलाकृति बनाने के लिए फोटोग्राफ, कपड़े और डिजिटल प्रिंट की समूहीकृत सूची एकत्र करती हैं
 
Nimisha Doongerwal, identity, USA
UT WhatsApp Channel Join Now

अक्सर कहा जाता है कि रचनात्मकता की कोई सीमा नहीं होती। यह ऐसा क्षेत्र है, जिसमें कलाकार किसी भी मामूली चीज को कला में बदल सकता है। आर्ट और आर्टिस्ट की क्रिएटिविटी किसी भी चीज को कलात्मक आकार दे सकती है। कुछ ऐसा ही कर रही हैं ग्वालियर (मध्य प्रदेश) में जन्मी निमिषा डूंगरवाल जो की हाल ही में सेन फ्रांसिस्को यूनाइटेड स्टेट्स में रहती है। लेकिन इन्होंने पेंटिंग को केवल रंग और ब्रश तक सीमित न रख कर मिक्स मीडिया के साथ नया आयाम दे दिया है।

निमिषा की मिक्स्ड मीडिया आर्ट- “Portrait of USA 2020” को The de-Young म्यूजियम में प्रदर्शित किया गया । साथ ही Forbes Magazine में भी प्रकाशित किया गया, इसी के साथ इनकी आर्ट - Immigrant Identity - Harvey Milk Terminal 1 को SFO म्यूजियम में प्रदर्शित किया गया था, Art Seen Magazine के फ्रंट पेज पे इनकी मिक्स्ड मीडिया आर्ट प्रकाशित हुई थी। 

SFO

आईये जानते है निमिषा डूंगरवाल के बारे में

निमिषा ने उदयपुर टाइम्स से बातचीत पर बताया की उनकी माँ राजस्थानी पेंटिंग्स (जैसे बनी ठनी) बनाती थी। उन्हें देख कर निमिषा को भी पेंटिंग्स बनाने, पोर्ट्रेट्स और नक्काशी करने में रूचि बढ़ने लगी। उनको बचपन से ही पेंटिंग्स बनाना बहुत पसंद था। निमिषा सोचती है की वह अपने कला व काम के माध्यम से लोगों से कम्यूनिकेट करना चाहती है, वे कहती है की लोग मेरे काम को देख कर मुझसे प्रश्न पूछेंगे की मेंने क्या बनाया है? और इससे मुझे उन्हें कलात्मक अभिव्यक्ति की दुनिया से परिचित कराने और अपने विचार समझाने का अवसर मिलेगा। 

portrait of usa

2007 में वे कंप्यूटर विज्ञान में मास्टर डिग्री प्राप्त करने के लिए सैन फ्रांसिस्को चली गईं थी। अपनी डिग्री पूरी करने के बाद, उन्होंने आत्म अभिव्यक्ति के रूप में कला के प्रति अपने सच्चे जुनून को महसूस किया। 

Nimisha Art, De young Museum, Portrait

निमिषा एक Immigrant आर्टिस्ट है, तो आईये उनकी Immigrant Identity के बारे में पढ़ते है- 

“Immigrant Identity” परियोजना मेरी खुद की पहचान खोजने के लिए एक स्व-खोज के रूप में शुरू हुई और संयुक्त राज्य अमेरिका में होने के नाते और विशेष रूप से कैलिफ़ोर्निया में रहने से यह मेरी कला में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, मेरे परिवेश ने ही मुझे अपनी पहचान और immigrant और immigrant से संबंधित मुद्दों के लिए प्रेरित किया है। -निमिषा डुंगरवाल 

lets be nortorious


 मिक्स्ड मीडिया आर्ट के बारे में जानते है की यह किस तरह की आर्ट होती है? 

निमिषा डूंगरवाल अपनी कलाकृति बनाने के लिए फोटोग्राफ, कपड़े और डिजिटल प्रिंट की समूहीकृत सूची एकत्र करती हैं। प्रत्येक टुकड़ा इन मिक्स्ड मीडिया (Mix Media) के सावधानीपूर्वक संग्रह के साथ शुरू होता है। इसके बाद डूंगरवाल प्रिंट्स को फाड़कर और लेयरिंग करके और उन्हें पेंट, स्टैम्प्स और फैब्रिक से अलंकृत करके अपना कोलाज बनाती हैं। रचनाओं और अवधारणाओं पर जोर देने के लिए परतें आकार, संतृप्ति और अस्पष्टता में भिन्न होती हैं। प्रत्येक वैचारिक चित्र एक नई, अमूर्त पहचान लेता है और इतिहास और समकालीन वास्तविकता के दृश्यों को जोड़कर एक अनूठी कहानी कहता है। उनका काम जातिवाद, लैंगिक असमानता और आप्रवास जैसे सामाजिक मुद्दों को संदर्भित करके अतीत और लोकप्रिय संस्कृति के बीच अलग-अलग संबंधों की पड़ताल करता है। 

nimisha

डूंगरवाल का लक्ष्य उन सामाजिक मुद्दों को आवाज देना है जिनका सामना दुनिया भर की महिलाएं और रंग के आधार पर लोग करते हैं। अपनी कला और वकालत की जागरूकता के माध्यम से, वह लोगों को सांस्कृतिक विविधता को गले लगाने और सभी लैंगिक, रंग, नस्लीय और धार्मिक समानता के लिए लड़ने हेतु प्रोत्साहित करने की उम्मीद करती है।

निमिषा डूंगरवाल को फोर्ब्स, माके ,एसएफ़ओ म्यूजियम और आर्ट मार्केट मैगज़ीन जैसे प्रकाशनों और पत्रिकाओं में चित्रित किया गया है। डूंगरवाल ने डी यंग संग्रहालय, उत्तरी कैलिफोर्निया कला संग्रहालय और ब्राउन विश्वविद्यालय में अपने काम का भी प्रदर्शन किया है।
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal