प्रो कैलाश सोडाणी को जेएनयू और नीपा में सौंपी जिम्मेदारी

प्रो कैलाश सोडाणी को जेएनयू और नीपा में सौंपी जिम्मेदारी

राष्ट्रपति ने दोनों पदों के लिए किया मनोनीत

 
प्रो कैलाश सोडाणी को जेएनयू और नीपा में सौंपी जिम्मेदारी
गोविन्द गुरु जनजातीय विश्वविद्यालय, बांसवाड़ा के पूर्व कुलपति है प्रो कैलाश सोडाणी

उदयपुर, 25 सितंबर 2020 । गोविन्द गुरु जनजातीय विश्वविद्यालय, बांसवाड़ा के पूर्व कुलपति प्रो कैलाश सोडाणी अब राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों को अपने शैक्षिक अनुभवों से समृद्ध करेंगे।

प्रो सोडाणी को भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने दो बड़ी जिम्मेदारी सौंपी हैं। इसके तहत जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय नई दिल्ली में कार्यकारी परिषद में दो वर्ष के लिए सदस्य मनोनीत किया गया है। इसी प्रकार नेशनल इंस्टीटयूट आफ एज्यूकेशनल प्लानिंग एण्ड एडमिनिस्ट्रेशन, नई दिल्ली (नीपा) की शैक्षणिक परिषद में तीन वर्ष के लिए सदस्य मनोनीत कर बहुत ही अहम कार्य सौंपा है। 

नीपा शैक्षणिक योजना एवं प्रशासन के संबंध में देश का एक मात्र संस्थान है। तो वहीं जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय देश का सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय की सूची में दूसरे स्थान पर है।

सामाजिक विज्ञान एवं मानविकी के क्षेत्र में भी यह विवि श्रेष्ठ स्थान पर है। दोनों ही संस्थान राष्ट्रीय स्तर पर प्रमुख है और शैक्षिक योजनाएं निर्माण व क्रियान्वयन के कार्य यहां से संचालित किए जाते हैं। उल्लेखनीय है कि गोविन्द गुरु जनजातीय विश्विविद्यालय में अपने कार्यकाल के दौरान प्रो सोडाणी ने कई नवाचार किए। उन्होंने सामान्य ज्ञान को स्नातक स्तर पर लागू किया तो वहीं प्रदेश स्तर पर आयोजित होने वाली बीएसटीसी में भी ओएमआर शाीट नए कलेवर में रखी। 

साथ ही जीजीटीयू में खेल, साहित्य, संगोष्ठी, ऑनलाइन प्रश्न पत्र, सम्बद्धता में नवाचार करते हुए एक साथ करीब 350 शोधार्थियों को प्रवेश परीक्षा के माध्यम से पंजीकृत करने सहित कई महत्वपूर्ण कार्य किए। ऐसे में प्रो सोडाणी के अनुभव से अब पूरे देश के विद्यार्थी लाभांवित होंगे और नई शिक्षा नीति के अनुरूप कार्य हो सकेंगे 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal