उदयपुर के कॉमरेड शंकरलाल चौधरी चुने गए नए भाकपा-माले के राज्य सचिव

उदयपुर के कॉमरेड शंकरलाल चौधरी चुने गए नए भाकपा-माले के राज्य सचिव

भाकपा (माले) का राजस्थान राज्य दो दिवसीय सम्मेलन संपन्न

 
comrade shankarlal choudhary
साम्प्रदायिक फासिवादी ताकतों के ख़िलाफ़ व्यापक जन संपर्क अभियान चलाने का संकल्प लिया गया

उदयपुर 10 जून 2023 । भाकपा-माले का राजस्थान राज्य का दो दिवसीय राज्य सम्मेलन आज कुमारामंद हॉल, जयपुर में सम्पन्न हुआ। सम्मेलन में राज्य कमिटी का चुनाव हुआ जिसमे नई 25 सदस्यीय राज्य कमिटी का चुनाव हुआ। राज्य कमिटी की पहली बैठक में उदयपुर के कॉमरेड शंकरलाल चौधरी को सर्वसम्मति से राज्य सचिव चुना गया। 

चुनी हुईं राज्य कमिटी ने 9 सदस्यीय स्थाई कमिटी का भी चुनाव किया जिसमे उदयपुर जिले के कॉमरेड शंकरलाल चौधरी के अलावा कॉमरेड फरहत बानू, कॉमरेड चन्द्रदेव ओला, कॉमरेड सुधा चौधरी शामिल हैं। 

shankar lal choudhary
कॉमरेड शंकरलाल चौधरी

सम्मलेन में आज दूसरे दिन की कार्यवाही कल जो राजनीतिक सांगठनिक रिपोर्ट पेश हुईं थी उस पर चर्चा के साथ शुरू हुआ। चर्चा में 20 से ज्यादा प्रतिनिधियों ने अपनी बात रखी। 

चर्चा में यह बात सामने आयी की फासीवाद से राज्य में निपटते के लिए जनता के बीच उनके मुद्दो पर जनता को एकजूट करने हुए व्यापक वैचारिक संघर्ष की जरूरत हैं। वामपंथी विचारधारा सामाजिक आर्थिक न्याय और धार्मिक सोहार्द पर आधारित भारत का सपना देखती हैं जो समानता, न्याय और बंधुता पर आधारित हो। इस बात को जन आंदोलन के दौरान आम जन के बीच कारगर तरीके से लें जानें की जरूरत हैं। 

चर्चा का जवाब देते हुए निर्वतमान राज्य कमिटी की तरफ़ से शंकरलाल चौधरी ने जवाब देते हुए कहा की जनता के बीच हमारे जन कामों को राजनीतिक दिशा देने की जरूरत हैं। हमारे राजनीतिक काम में वैचारिक पहलू को मजबूत करते हुए पार्टी संगठन को मजबूत बनाने के लिए सब प्रतिनिधियों को अपनी भूमिका को बढ़ाना होगा। 

उन्होनें कहा जहाँ केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों को जनता अब जनता समझ रहीं है पर हम देख रहे हैं राज्य सरकार ने भीं किसानो से किए सब वादे पूरे नही किए हैं। उन्होनें पार्टी संगठन की कमियों को चिन्हित करते हुए प्रतिनिधियों के द्वारा उठाए गए सवालों पर विस्तृत जवाब दिया। 

प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए हैं केंद्र कमिटी की ओर से आए सम्मेलन के पर्यवेक्षक और पोलित ब्यूरो सदस्य कामरेड संजय शर्मा ने सबसे पहले सम्मेलन को पार्टी सविधान के नियमों का हिसाब से पारित करने की घोषणा की। इसके बाद उन्होंने अपनी बात रखते हुए इस बात पर जोर दिया की पार्टी संगठन को धरातल पर सक्रिय करके ही सांप्रदायिक नफरती राजनीति के असर को रोका जा सकता हैं।

पोलित ब्यूरो सदस्य कॉमरेड प्रभात चौधरी ने कहा की सम्मेलन से संकल्प ले की पार्टी की राजस्थान इकाई को आगामी विधानसभा चुनाव में अन्य वाम दलों, लोकतांत्रिक ताकतों के साथ मिलकर कारगर भूमिका निभानी होगी। 
 

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal