Jungle Safari - 22 साल बाद माउंट आबू में हुई शुरुआत

Jungle Safari - 22 साल बाद माउंट आबू में हुई शुरुआत 

प्रदेश की चौथी जंगल सफारी है ये

 
mount abu jungle safari

प्रदेश के एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू में 22 साल बाद जंगल सफारी का सपना मंगलवार को पूरा हो गया । माउंट आबू की यह सफारी प्रदेश में चौथी है । इससे पहले प्रदेश में रणथंबोर, सरिस्का और कुंभलगढ़ में सफारी करवाई जा रही है।  राज्य सरकार की ओर से 22 साल पहले माउंट आबू में जीप सफारी शुरू करने का निर्णय लिया था। जून 2021 को इसकी मंजूरी मिली थी । इसमे सैलानी ट्रेवलर्स टैंक से मिनी नक्की लेक तक 6 किलोमीटर के सफर में वन्यजीवों और प्रकृति को करीब से देखने का रोमांच मिलेगा । 

मंगलवार को ट्रेवलर्स टैंक पर वन विभाग की ओर से उद्घाटन कार्यक्रम हुआ। इसमें हेमाराम चौधरी मंत्री वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग, नीरज डांगी सांसद राज्यसभा, देवजी पटेल सांसद सिरोही जालौर, समाराम गरासिया विधायक आबू पिंडवाड़ा, रतन देवासी पूर्व मुख्य सचेतक एवं डॉ. भंवरलाल कलेक्टर के नेतृत्व में वर्चुअल उद्घाटन किया गया । 

इसके साथ ही सरिस्का और थानागाजी के बीच वाइल्ड लाइफ कोरिडोर बनाकर जयपुर के झालाना से जोड़ेंगे

सरिस्का और थानागाजी के बीच वाइल्ड लाइफ कोरिडोर तैयार किया जा रहा है, जिससे सरिस्का के वन्यजीवों का विचरण जयपुर के झालाना तक सहज और स्वच्छंद हो सकेगा। इसके लिए ग्राम पंचायतों की करीब 80 हेक्टेयर भूमि पर ब्लॉक में 70 हजार पौधे लगाकर कोरिडोर के लिए जंगल तैयार किया जा रहा है । यह काम छह माह में पूरा  हो जाएगा । अलवर वन मंडल की ओर से एनजीओ को 9 रुपए प्रति पौधा उपलब्ध कराया गया है।

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal