ऑफ़ सीज़न में पैलेस ऑन व्हील्स को अयोध्या तक संचालित करने का प्रस्ताव

ऑफ़ सीज़न में पैलेस ऑन व्हील्स को अयोध्या तक संचालित करने का प्रस्ताव

ट्रेन प्रबंधन ने पर्यटन निगम को भेजा प्रस्ताव

 
palace on wheels

उदयपुर, 24 जनवरी। शाही ट्रेन पैलेस ऑन व्हील्स में सैलानियों की संख्या कम होती जा रही है। राजस्थान में किसी न किसी फेरे में पर्याप्त संख्या में यात्री नहीं मिलने पर न के बराबर यात्रियों के साथ राजस्थान भ्रमण पर चलने वाली पैलेस ऑन व्हील्स की नैया धार्मिक पर्यटन के सहारे पार लगाने की तैयारियां की जा रही है। शाही ट्रेन को रामलला ही संजीवनी देंगे।

सूत्रों के अनुसार अप्रैल से अगस्त तक पर्यटन के ऑफ सीज़न में ट्रेन का संचालन पर्यटन की जगह धार्मिक पर्यटन की पटरी पर चलेगी। ऑफ सीज़न में ट्रेन का संचालन अयोध्या तक किया जाएगा और इसके साथ ही देसी-विदेशी यात्री अन्य पर्यटन स्थालों के साथ अयोध्या जाकर रामलला के दर्शन भी कर सकेंगे। इसके लिए ट्रेन प्रबंधन ने पर्यटन निगम के प्रबंध निदेशक को प्रस्ताव दिया है। उच्च स्तर पर सभी पहलूओं का परीक्षण करने के बाद ट्रेन का संचालन अयोध्या तक करने की मंजूरी दी जाएगी।

सीज़न में सात दिन का टूर, ऑफ सीज़न में नए सिरे से तय होगा

पर्यटन सीज़न में ट्रेन का संचालन सात दिन के लिए दिल्ली से शुरू होता है और फिर यात्री दिल्ली से रवाना होकर जयपुर, सवाई माधोपुर, चित्तोडगढ़, जोधपुर, उदयपुर, जैसलमेर, भरतपुर से आगरा और फिर दिल्ली पहुंचती हैं। ट्रेन टूर समाप्त कर दिल्ली पहुंचती है। पर्यटन के ऑफ सीजन मे ट्रेन का संचालन करने के लिए ट्रेन के टूर पैकेज का भी नए सिरे से निर्धारण होगा।

जनमन में रामलला के दर्शन की ईच्छा

पर्यटन निगम के अधिकारियों से इस संबध में बात की तो पैलेस ऑन व्हील्स के निदेशक-संचालन व रखरखाव अधिकारी प्रदीप बोहरा का कहना है कि जन जन में आयोध्या जाकर रामलला के दर्शन करने की इच्छा है। अगर पैलेस ऑन व्हील्स के जरिए ये सुविधा मिलती है तो देसी और विदेशी पर्यटक आयोध्या पहुंच कर रामलला के दर्शन कर सकेंगे। ट्रेन प्रबंधन को इसके लिए किराए के पैकेज को भी फिर से लांच करना होगा। इसके लिए निगम को प्रस्ताव भेजा गया है। शीर्ष स्तर से मंजूरी के बाद ही आगे की योजना पर काम करेंगे। 

Source: Rajasthan Patrika

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal