अमराई घाट विवाद- अब नहीं देना होगा मोबाइल का 200 रु शुल्क


अमराई घाट विवाद- अब नहीं देना होगा मोबाइल का 200 रु शुल्क  

उदयपुर टाइम्स द्वारा ज़िला कलेक्टर के संज्ञान में लाने के बाद ज़िला प्रशासन ने देवस्थान के साथ बैठक ली

 
Ambrai Ghat Mobile Charges Revoked after District Administration calls a meeting with Devasthan Department An Udaipur Times News Impact Alfiya Khan Team Reporter
UT WhatsApp Channel Join Now
टिकट-काउंटर, परिसर के भीतर-बाहर लगे अनुमोदन देवस्थान विभाग के सक्षम अधिकारी से करवाने के बाद ही इन्हें लगाया जाएगा

शहर की पिछोला झीले के बीच स्थित पहचाने जाने वाले अमराई घाट पर पर्यटकों से प्रवेश शुल्क पर मोबाइल ले जाने के लिए अवैध वसूली की जा रही थी। अमराई घाट पर पर्यटकों को मोबाईल ले जाने के 200 रु लिए जा रहे थे। उदयपुर टाइम्स ने इस मुद्दे को अपनी खबरों में लगातार प्रकाशित किया। देवस्थान विभाग के कहने पर उदयपुर टाइम्स की टीम ने ज़िला कलेक्टर ताराचंद मीणा से मुलाक़ात की और उन्हें इस मुद्दे से अवगत कराया, जिस पर उन्होंने कहा की इस समस्या पर जांच कर, कार्यवाही की जाएगी।

मंगलवार 15 नवम्बर को ज़िला प्रशासन की ओर से बैठक की गई। प्रशासन और देवस्थान विभागीय अधिकारियों ने निर्देश दिए कि अमराई घाट पर फर्म की ओर से लगाई मोबाइल की पाबंदी को समाप्त कर दिया जाए। अब अमराई घाट पर जाने के लिए शहरवासियों और पर्यटकों को मोबाईल ले जाने का शुल्क अदा नहीं करना होगा। ठेकेदार फर्म को मंदिर परिसर में दर्शन, श्रावणी उपाकर्म, अन्य धार्मिक क्रियाकर्म आदि को भी निःशुल्क श्रेणी में रखने की हिदायत दी गई। क्षेत्रवासी और सामाजिक संगठन ठेकेदार फर्म द्वारा प्रवेश और मोबाइल शुल्क वसूलने का लंबे समय से विरोध कर रहे थे। 

अवैध वसूली पर 2 बार लगाया जा चुका है जुर्माना

अमराई घाट पर शहरवासियों और पर्यटकों से पुर्व में भी प्रवेश शुल्क पर अवैध वसूली की जा रही थी। उदयपुर टाइम्स ने इस मुद्दे को लेकर देवस्थान विभाग को शिकायत की थी। शिकायत के बाद देवस्थान विभाग की ओर से जांच की गई। जांच करने पर सही पाया गया था कि ठेकेदार की ओर से अवैध वसूली की जा रही हैं। इसके बाद देवस्थान ने ठेकेदार फर्म रेडियेंट ट्यूर के संवेदक प्रदीप जोशी पर 10 हज़ार और 50 हज़ार का जुर्माना लगाया था। जिसका भुगतान अभी तक नही किया गया हैं। अधिकारियों का कहना है फर्म की ओर से समय पर भुगतान नहीं किया गया तो बैंक गारंटी से पैसा वसूल किया जाएगा। 

 बैठक में लिए गए निर्णय

1. घाट पर बिजली का रखरखाव और उचित प्रकाश व्यवस्था नगर निगम की ओर से की जाएगी। लेकिन बिजली का खर्च फर्म को वहन करना होगा। 

2. 7 दिन में टूटी रैलिंग का काम शुरु करवाया जाएगा, बजट किया जारी। 

3. पानी का कनेक्शन देवस्थान विभाग करवाएगा और बिल का भुगतान फर्म करेगी। 

4. टिकट-काउंटर, परिसर के भीतर-बाहर लगे अनुमोदन देवस्थान विभाग के सक्षम अधिकारी से करवाने के बाद ही इन्हें लगाया जाएगा। 

5. घाट पर जमी काई और गंदगी की सफाई नगर निगम करवाएगा। 

6. परिसर की साफ-सफाई ठेका फर्म को करनी होगी।  

To join us on Facebook Click Here and Subscribe to UdaipurTimes Broadcast channels on   GoogleNews |  Telegram |  Signal